संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

अब डिजिटल लेन देन पर असरदार कानून की डिमांड

अभिषेक सिंह (सहसंपादक)-


सुलतानपुर – नोटबंदी से पैदा हुई समस्या से निपटने के लिए लोग डिजिटल भुगतान की शुरुवात कर चुके हैं लेकिन एक जरुरत लोगों को महसूस हो रही है की अगर डिजिटल भुगतान में पैसा खो जाता है , हैक कर दिया जाता है , चोरी हो जाता है या फिर पैसों का दुरुपयोग होता है तो इससे निपटने के लिये क्या करना चाहिए ? इस टाइप के धोखेबाजी के लिए कौन सा कानून है ? लोगों का कहना है की बहुत से ऐसे मामले है जिसमे एटीएम कार्ड का दुरुपयोग हुआ है ।  और उनका निपटारा नहीं हो पाया है । ऐसे में डिजिटल लेन देन करने से बहुत डर लगता है ।


डिजिटल लेन देन को सुरक्षित बनाना बहुत जरुरी


सुलतानपुर – ओंम नगर निवासी कविता सोनी का समय की मांग है की डिजिटल लेन देन को सुरक्षित बनाया जाय । और डिजिटल लेन देन में फ्रॉड करने वाले व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो । तभी आम आदमी डिजिटल लेन देन में सहज महसूस करेगा ।


डिजिटल लेन देन में फ्रॉड की घटना पर हो त्वरित कार्रवाई


सुलतानपुर – कूरेभार निवासी राम सरन का कहना है की सरकार अगर चाहती है की डिजिटल लेन देन को बढ़ावा मिले तो इस टाइप के लेन देन में फ्रॉड करने वालों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई हो ऐसे शख्त नियम बनाये जाएँ । तब लोग डिजिटल लेन देन करने के लिए प्रोत्साहित होंगे ।


डिजिटल दर्ज हो शिकायत


सुलतानपुर – लम्भुआ निवासी दिगंबर सिंह का कहना है की लेन देन में डिजिटल फ्रॉड हो तो उसकी शिकायत भी डिजिटल हो । और उसकी सुनवाई भी डिजिटल हो इन सब चीजों में वक़्त न लगे जिससे लोगों का काम अबाध रूप से चलता रहे ।


नहीं है निपटने की व्यवस्था


सुलतानपुर – आर्थिक मामलों के जानकार दिव्य झा का कहना है की नोटबंदी के बाद नकदी किल्लत बेहद आम हो गई इससे निपटने के लिए डिजिटल भुगतान का चलन बढ़ा है लेकिन अगर डिजिटल भुगतान के बारे में कोई विवाद पैदा होता है तो उससे निपटने के लिए कोई कानूनी व्यवस्था नहीं है ।