सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

इंग्लैंड टीम पर टीम इंडिया की 2-0 की अजेय बढ़त

भारत ने इंग्लैंड को जीत के लिए 382 रनों का नामुमकिन सा लक्ष्य रखा था लेकिन इंग्लैंड की टीम निर्धारित 50 ओवरों में 8 विकेट खोकर 366 रन ही बना सकी और 15 रन से मैच गंवा बैठी। इंग्लैंड की ओर से जेसन रॉय ने 82, जोए रूट ने 54, मोईन अली ने 55 और कप्तान इयॉन मॉर्गन ने सबसे अधिक 102 रन बनाए. भारत की ओर आर अश्विन ने तीन, जसप्रित बूमराह ने दो और भुवनेश्वर कुमार और रवींद्र जडेजा ने 1-1 विकेट लिया। इससे पहले रनों का सूखा झेल रहे युवराज सिंह ने अपना पहला शतक जड़ते हुए पुराने जोड़ीदार महेंद्र सिंह धोनी (134) के साथ 256 रनों की साझेदारी कर भारत को 50 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 381 रनों के विशाल स्कोर तक पहुंचाया। यह इंग्लैंड के खिलाफ किसी भी टीम का तीसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर था। साथ ही यह भारत का इंग्लैंड के खिलाफ दूसरा सर्वोच्च स्कोर था।
लोकेश राहुल 5 रन बनाकर वोक्स का शिकार बने। इसी ओवर में वोक्स ने भारतीय कप्तान विराट कोहली को आउट कर बड़ी कामयाबी हासिल की। अपने अगले ओवर में वोक्स ने शिखर धवन को भी 11 के स्कोर पर पवेलियन भेजकर भारत को तीसरा झटका दिया। 25 रन पर 3 विकेट गंवाकर संघर्ष कर रही भारतीय टीम की पारी को युवराज सिंह और महेन्द्र सिंह धोनी ने संभाला। इसी बीच युवराज सिंह ने अपनी वापसी को सही साबित करते हुए शतक लगाने में सफलता पाई। उन्होने वनडे में 6 साल बाद शतक लगाया है। युवराज ने अपना जोरदार खेल इसके बाद भी जारी रखा और जल्द ही अपने 150 रन पूरे किए । दूसरे छोर पर धोनी ने भी अपना शतक पूरा करने में सफलता पाई। युवराज 150 रन बनाकर आउट हुए। आउट होने से पहले युवराज और धोनी के बीच चौथे विकेट के लिए 256 रन की साझेदारी निभाई। केदार जाधव 22 रन बनाकर प्लंकेट का शिकार बने। धोनी 134 रन की पारी खेली और प्लंकेट का शिकार हुए। आखीर में हार्दिक पांड्या और रविंद्र जडेजा ने तेजी से रन जोडे और भारत ने निर्धारित 50 ओवर में 6 विकेट के नुकसान 381 रन बनाए। पांड्या 19 और जडेजा 16 रन बनाकर नाबाद रहे।