संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

जानवरों के हवाले रेलवे स्टेशन की छोटी सी फुलवारी

अभिषेक सिंह (सहसंपादक)-


सुलतानपुर – सुलतानपुर रेलवे स्टेशन परिसर में बनी छोटी सी फुलवारी जानवरों के हवाले है । फुलवारी में लगाये गए तमाम फूलों के पौधे तो समाप्त हो चुके हैं जो बची खुची हरियाली है वह भी छुट्टा जानवरों का आहार बन रही है । महाप्रबंधक अजय कुमार पुठिया ने 7 जनवरी 2016 को रेलवे उद्यान की फुलवारी का उद्घाटन पौध रोपड़ के साथ किया था और कहा था की रेलवे स्टेशन के सुंदरीकरण के लिए उद्यान का विकास किया जा रहा है जिससे स्टेशन पर आने जाने वाले यात्रियों को हरियाली देख सुखद एहसास हो सके ।


कटेगरी 2 का जंक्शन है सुलतानपुर स्टेशन


सुलतानपुर – सुलतानपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन से 355 स्टेशन सीधे जुड़े हुए हैं । करीब 70 ट्रेंने सुलतानपुर जंक्शन से आती या जाती हैं | हजारों यात्रियो का रोज आना जाना रहता है । सुल्तानपुर जंक्शन केटेगरी 2 का स्टेशन है| ऐसे में यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखकर बनाया गए किसी भी निर्माण की यह दुर्दशा चिंताजनक है और मौजूदा अधिकारी कर्मचारियों की कार्यप्रणाली पर सवालिया निसान उठाती है ।


क्यों करते है ऐसा दिखावा


सुलतानपुर – यात्री विकास श्रीवास्तव ने कहा की मेरी समझ में नहीं आता की अधिकारी कर्मचारी दिखावे का काम क्यों करते है । अगर पौधों की सेवा नहीं कर सकते थे तो स्टेशन उद्यान खोलने की जरुरत क्या है । बड़े अधिकारी ने उद्यान का उद्घाटन किया होगा अखबार में खबर छपी होगी । बस काम ख़त्म । उसकी सुरक्षा हो या न हो कोई मतलब नहीं ।


हमें तो लगता है की होती है कमाई


सुलतानपुर – यात्री उषा लता ने कहा की हमें तो लगता है की ये सब काम निजी कमाई के लिए किये जाते है जनता की सुविधा के लिए नहीं । फुलवारी बानी होगी , उद्घाटन हुआ होगा , देख रेख के लिए माली होगा , पौधे भी खरीदे जाते होंगे पर सब बेकार है । अंत में फुलवारी उजड़ गयी है । अभी एक साल भी पूरा नहीं हुआ है ।