सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

नितांत निर्लज्ज और घटिया शो बिग बॉस

अतुल शास्त्री-


आठ दस चरित्रहीन दुर्जन लम्पट और उतनी ही कुलटाओं को एक घर के अंदर ठूंस दीजिए, जाहिर है वो वहां बैठकर भजन तो गायेंगे नही, उनकी करतूतों को रिकॉर्ड करके टी. वी पर प्रसारित कीजिये, बन गया देश का पसंदीदा शो “बिग बॉस” ! घर मे मातायें, बहनें, बच्चे, बच्चियां, पुरुष, सभी इस शो से चिपके रहते हैं, लड़ना झगड़ना, गालियां बकना, कामोद्देपक अठखेलियां, यही सब तो चरित्र निर्माण के पाठ हैं, जिसे लोग केबल प्रसारण दाता (Cable Provider) को अतिरिक्त शुल्क देकर खरीदते हैं !

कुलटाओं की बाचालता को महिमामंडित करते हुए पूरे समाज को दूषित करने का षड्यंत्र अबाध गति से पिछले कई वर्षो से पूर्ण सफलता के साथ चल रहा है, बस एक कमी रह गई थी, वो थी इस शो के माध्यम से हिन्दू धर्म को कलंकित नही कर पाने की, इसलिये इस बार एक भाड़े के भांड को लाया गया ! जिसका नाम “ओम स्वामी” है, ना उसका “ओम” से कोई मतलब है ना ही किसी दृष्टि से वो स्वामी है, पर उसकी लम्बी दाढ़ी, तिलक और वस्त्र से सच्चे साधु संतों की छवि को गहरा धक्का अवश्य लगेगा, समझ में नहीं आ रहा है कि तमाम महंत, अखाडा परिषद, महामंडलेश्वर और इस तरह के संगठन इसका विरोध क्यों नहीं कर रहे हैं ! इस तरह के किसी भी चारित्रिक पतन करने वाले कार्यक्रम में किसी का भी भगवा वस्त्र मे प्रवेश वर्जित होना चाहिए, न्यायालय और सूचना प्रसारण मंत्रालय का रास्ता खुला हुआ है, आज का यह मौन भविष्य के लिए बहुत घातक सिद्ध होने वाला है, संत गण कृपया संज्ञान लें…!!