संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

पीके ने की घर वापसी, भाजपा के हुए प्रदीप कुमार वर्मा व रामनाथ त्रिपाठी

समाजवादी पार्टी में अतिदलितों में प्रभावी चेहरा व एससीएसटी आयोग के सदस्य प्रदीप वर्मा पीके ने रविवार को घर वापसी करते हुए भाजपा का दामन थाम लिया।उनके साथ शाहाबाद से हाल ही में बहुजन समाज पार्टी से विधान सभा प्रत्याशी घोषित हो चुके रामनाथ त्रिपाठी ने भी भाजपा की सदस्यता प्रदेश कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या के समक्ष ग्रहण की।श्री वर्मा ने भाजपा छोड़कर ही समाजवादी पार्टी ज्वाईन की थी उसके बाद उन्हें एससीएसटी आयोग का सदस्य बनाया गया था।
बतादें की इंजीनियर प्रदीप कुमार वर्मा। पीके वर्ष 2007 में भाजपा के चुनाव चिन्ह पर तत्कालीन बावन हरियावां विधानसभा सुरक्षित सीट से चुनाव लड़ चुके हैं।समाजवादी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष केन्द्रीय उपभोक्ता भण्डार के अध्यक्ष राज्य अनुसूचित जाति जनजाति आयोग के सदस्य पीके वर्मा के द्वारा भाजपा पार्टी ज्वॉइन करने की बात शनिवार को ही देर शाम वायरल हो गयी थी लेकिन रविवार को इस खबर पर मुहर लग गयी।
1999 से 2004 तक सिविल ट्रेड में इंजीनियर पीके ने बेसिक शिक्षा विभाग के सर्व शिक्षा अभियान में सेवा दीं। 2005 में सक्रिय राजनीति में आए और हरियावां ब्लॉक के प्रमुख पद का चुनाव लड़ा। 2007 में भाजपा के टिकट पर परिसीमन से पहले की बावन हरियावां सुरक्षित विधानसभा सीट से चुनाव लड़े और तत्कालीन अन्य 08 सीटों के पार्टी प्रत्याशियों से सबसे बेहतर प्रदर्शन किया। चुनाव बाद पीके भाजपा जिला संगठन में उपाध्यक्ष बनाए गए। वह 2009 के लोकसभा आमचुनाव के दौरान सपा में चले गए थे।