कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

पूर्णाहुति के साथ हुआ रुद्र महायज्ञ का समापन

रामू बाजपेयी-

बेहटागोकुल (हरदोई)- शुक्रवार को दुलारपुर में आयोजित श्रीरुद्र महायज्ञ का समापन हो गया यज्ञ के समापन पर यज्ञ का महात्म्य वर्णन करते हुए गोविंदाचार्य जी महाराज ने बताया भगवान रुद्र भगवान शिव का एक कठोर पहलू है जो विनाश और असीमित प्रेम का प्रतीक है । ये हमारे दुःख को नष्ट करता है । भगवान शिव की पूजा करने से सभी समस्याओं से भक्तों को तत्काल राहत प्रदान होती है और इच्छाओं की पूर्ति होती है ।

इस अवसर पर विजेंद्र सिंह,मोहित ,प्रेमपाल शास्त्री प्रदीप ठाकुर, संदीप सिंह आदि के साथ साथ सैकडों की संख्या में भक्त मौजूद रहे।