भाईचारे के शहर का नाम है ‘बदायूँ’

बदायूँ: 03 दिसम्बर

06 दिसम्बर को दृष्टिगत रखते हुए डीएम व एसएसपी ने अधिकारियों एवं जनपद के मौजिज़ लोगों के साथ शांति एवं कानून व्यवस्था की बैठक आयोजित की। बैठक में असरार अहमद, राकेश वर्मा अशोक खुराना, सैयद अशरफ अली एवं शिवस्वरूप गुप्ता ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि यह सूफी-संतों का शहर है। इसमें अमनों-अमान सदा कायम रहेगा। प्रशासन बेफिक्र रहे। भाईचारे के शहर का नाम है बदायूँ।

मंगलवार को कलेक्ट्रेट स्थित अटल बिहारी वाजपेयी सभागार में जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने शांति एवं कानून व्यवस्था की बैठक आयोजित की। डीएम ने कहा कि जनता प्रशासन का अभिन्न अंग है। सभी लोगों के स्तर से प्रयास किया जा रहा है कि जनपद में खुशहाली का माहौल कायम रहे। लेकिन कुछ खुराफाती तत्व जनपद की खुशहाली पर ग्रहण लगाना चाहते हैं, ऐसे लोगों को चिन्हित कर लिया गया है उन पर पैनी नजर रखी जा रही है। किसी भी दशा में उन्हें क्षम्य नहीं किया जाएगा। उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। शांति कायम रखने में सभी सहयोग करें। छोटी से छोटी घटना के संबंध में अधिकारियों को सूचित करें। उन्होंने सेक्टर ऑफिसर और सेक्टर पुलिस ऑफिसर से अपेक्षा की है कि अपने तैनाती स्थलों पर समय से पहुंचे चैकन्ने और भ्रमणशील रहे। उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिए है कि इमरजैंसी सर्विसेस को एक्टिव रखें।

एसएसपी ने कहा कि धर्म का बवंडर है पीछे पड़ा है क्यों, कुछ लफ्ज़ सुनके पारा चढ़ा क्यों। इंसानियत से हर कौम है जन्मी, तो मजहब इंसानियत से बड़ा है क्यों। इस शेर को पढ़ते हुए उन्होंने कहा कि इस बार के बाद अब 06 दिसम्बर का नाम लिया जाया करेगा। जनता अमन चाहती है, लेकिन कुछ लोगों के पेट में दर्द उठ रहा है, जो माहौल को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर उन लोगांे ने जहर उगलना शुरू कर दिया है। लगातार इसकी मोनीट्रिंग की जा रही है। ऐसे लोगों को दुरुस्त करने की विशेष ज़रूरत है। उन्होंने मौलानाओं से अपील की है कि चूंकि 06 दिसम्बर को जुमा है तो मस्जिदों में ऐसी तकरीर करें, जिसमें आपसी भाईचारा हो, प्रेम और सदभावना हो। उन्होंने अधिकारियों एवं पुलिस को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जनता पुलिस को किसी भी बारे में अवगत कराना चाहती है तो उनके मोबाइल पर ज़रूर बताए, खबर देने वाले का नाम गोपनीय रखा जाएगा

url and counting visits