सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव और रामगोपाल यादव समाजवादी पार्टी में वापस लिए गए

उत्‍तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी में टिकट बंटवारे को लेकर चल रही अन्‍तर कलह में आज उस समय एक और मोड़ आया, जब मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव और पार्टी नेता रामगोपाल यादव को समाजवादी पार्टी में वापस ले लिया गया। पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव, प्रदेश अध्‍यक्ष शिवपाल सिंह यादव और श्री अखिलेश यादव की बैठक के बाद यह फैसला लिया गया। बाद में श्री शिवपाल यादव ने संवाददाताओं को बताया कि इन दोनों ही निष्‍कासित नेताओं को पार्टी में वापस ले लिया गया है। उन्‍होंने कहा कि पार्टी प्रमुख के फैसले के बाद ऐसा किया गया। श्री शिवपाल यादव ने कहा कि हम सभी एकजुट होकर साम्‍प्रदायिक ताकतों से लड़ेंगे। इससे पहले, पार्टी के वरिष्‍ठ नेता और मंत्री आजम खान ने  मुलायम सिंह यादव से उनके आवास पर मुलाकात की।

मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव के आवास पर आज हुई बैठक में पार्टी के करीब 229 विधायकों ने हिस्‍सा लिया जबकि पार्टी मुख्‍यालय पर करीब एक दर्जन विधायकों के पहुंचने की खबर है। श्री अखिलेश यादव ने 190 से ज्‍यादा विधायकों के समर्थन का दावा किया। इससे पहले मुलायम सिंह यादव ने कल अपने पुत्र और मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव तथा पार्टी महासचिव राम गोपाल यादव को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। बाद में दोनों को छह – छह साल के लिए पार्टी से निकाल दिया था। श्री अखिलेश यादव पर आरोप है कि उन्‍होंने पार्टी हाईकमान से मशवरा किये बिना आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अपने उम्‍मीदवारों की सूची जारी कर दी थी। उत्‍तर प्रदेश में विधानसभा के चुनाव होने है।