शिकायतकर्ता का पक्ष सुने बिना न हो निस्तारण

बदायूँ: सम्पूर्ण समाधान दिवसों में दूर-दराज ग्रामीण अंचलों से आने वाले फरियादियों के समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर एक सप्ताह के भीतर निस्तारण कराया जाए। इस कार्य में लापरवाही/शिथिलता/उदासीनता बरतने वाले विभागों के अधिकारियों की कार्यशैली को गम्भीरता से लिया जाएगा।

समस्त अधिकारी अपने-अपने विभागों के आने वाली शिकायतों को समय से निस्तारण कराना सुनिश्चित करे। शासन के सर्वोच्च प्राथमिकता में सम्पूर्ण समाधान दिवस आता है, ऐसी स्थिति में अधिकारीगण अपने-अपने विभागों को गम्भीरता से लेते हुए फरियादियों की समस्याओं को समय सीमा के भीतर निस्तारण करें।

मंगलवार को तहसील दातागंज में जिलाधिकारी कुमार प्रशांत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने संपूर्ण समाधान दिवस में जनता की शिकायतें सुनी। सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी ने लम्बित शिकायतों की समीक्षा की तथा उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि लम्बित शिकायतों का एक सप्ताह के अन्दर गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए कि शिकायतों का निस्तारण सरसरी तौर पर न किया जाए बल्कि शिकायतकर्ताओं से वार्ता कर उनका पक्ष जरूर जाना जाए। उन्होंने कहा कि बिना शिकायतकर्ता का पक्ष सुने निस्तारण करने पर एक ही शिकायत बार-बार आती रहेगी। समस्त शिकायतों को शीघ्रातिशीघ्र निस्तारण किया जाए। सम्पूर्ण समाधान दिवस में कुल 135 शिकायतें प्राप्त हुईं जिनमें से 16 शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया, शेष शिकायतों के निस्तारण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए। डीएम ने तहसील दातागंज के रिकाॅर्ड रूम का भी निरीक्षण किया।

url and counting visits