सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

सरकार कोई भी फैसला अल्‍पकालिक राजनीतिक लाभ के लिए नहीं लेगी

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि सरकार कोई भी फैसला अल्‍पकालिक राजनीतिक लाभ के लिए नहीं लेगी और यह सुनिश्चित करेगी कि देश का भविष्‍य उज्‍ज्वल हो। आज महाराष्‍ट्र में रायगढ़ में भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड-सेबी के नए राष्‍ट्रीय प्रतिभूति प्रबंधन संस्‍थान परिसर का उद्घाटन करते हुए उन्‍होंने यह भी कहा कि सरकार कड़े फैसले लेने में नहीं हिचकेगी।

बड़े नोटों को बंद करने के फैसले पर प्रधानमंत्री ने कहा कि इससे होने वाली परेशानी बस कुछ दिन की है और आगे चलकर यह कदम बहुत फायदेमंद साबित होगा। श्री मोदी ने कहा कि तीन वर्ष से भी कम समय में उनकी सरकार ने अर्थव्‍यवस्था का कायापलट कर दिया है। उन्‍होंने कहा कि जब दुनियाभर में मंदी का दौर चल रहा है, ऐसे समय में भी भारत को बेहतरीन संभावनाओं वाला देश बना हुआ है और हमारी वृद्धि दर दुनिया में सबसे अधिक रहने का अनुमान है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि वस्‍तु और सेवा-कर पर अमल जल्‍द ही शुरू होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार नए कारोबार को बढ़ावा देने के प्रति वचनबद्ध है और स्‍टार्ट-अप के वास्‍ते उचित माहौल बनाने के लिए शेयर बाज़ार जरूरी हैं। श्री मोदी ने कहा कि वे मौजूदा पीढ़ी के जीवन काल में ही भारत को एक विकसित देश बनाना चाहते हैं। इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी एक दिन के महाराष्‍ट्र दौरे पर आज मुंबई पहुंचे। प्रधानमंत्री आज मुंबई तट के पास एक द्वीप में छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा का शिलान्‍यास भी करेंगे। श्री मोदी ने एक ट्वीट में कहा कि शिवाजी महाराज ने साहस, वीरता और सुशासन का शानदार उदाहरण प्रस्‍तुत किया।

मुंबई में श्री मोदी दो मैट्रो गलियारों – मुंबई ट्रांस हार्बर लिंक और शहरी परिवहन परियोजना तथा सड़क परियोजना के तीसरे चरण की आधारशिला भी रखेंगे। श्री मोदी ने रायगढ़ में सेबी के नए परिसर का उद्घाटन किया। वह आज दोपहर मुम्‍बई स्थित राजभवन पहुंचेंगे। यहां से वो गिरगॉन चौपाटी के लिए रवाना होंगे, जहां श्री मोदी मुम्‍बई तट पर अरब सागर में एक टापू पर छत्रपति शिवाजी महाराज स्‍मारक की आधारशिला रखेंगे। प्रधानमंत्री इस टापू पर एक हुवरक्राफ्ट में जाएंगे। इसके अलावा प्रधानमंत्री दो मेट्रो रेल परियोजना, मुम्‍बई ट्रांस हारबर लिंक और कालानगर फ्लाईओवर जैसे बड़े परियोजनाओं की भी आधारशिला रखेंगे। प्रधानमंत्री बांद्रा-कुर्ला काम्‍प्‍लेक्‍स में आयोजित एक सार्वजनिक समारोह को भी संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री आज दोपहर बाद पुणे में मैट्रो रेल परियोजना का शिलान्‍यास करेंगे। पुणे मेट्रो के लिए विश्‍व बैंक तथा एशियन इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर इनवेस्‍टमेंट बैंक छह हजार तीन सौ पचीस करोड़ रुपयों का लोन मंजूर किया है। उधर अनुमान के अनुसार इस प्रकल्‍प के दो मार्गों के लिए कुल ग्‍यारह हजार सात सौ बीस करोड़ रुपयों का संख्‍या अपेक्षित है। इसमें से साठ प्रतिशत खर्चा लोन के माध्‍यम से दिया जाएगा। केन्‍द्र तथा राज्‍य सरकार साढ़े तेरह प्रतिशत खर्चा उठाएगी। बाकी खर्चा स्‍थानिक महानगर निगम करेंगे। इस प्रकल्‍प के पहले चरण में दो लाइन बिछाई जाएगी। पहली लाइन पिम्‍प्री चिंचवाड से स्‍वरगेट तक तथा दूसरी रामवाड़ी से वनास तक होगी। इसके लिए पुणे तथा पिम्‍प्री चिंचवाड महानगर निगम क्षेत्र में चौवालिस हेक्‍टेयर भू-संपादन की आवश्‍यकता है जिसमें बत्‍तीस हेक्‍टेयर सरकारी जमीन भी है बाकी बारह हेक्‍टेयर का भू-संपादन टीडीआर देकर किया जाएगा।