सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

सियालदह-अजमेर एक्‍सप्रेस ट्रेन के पन्‍द्रह डिब्‍बे आज तड़के रूरा रेलवे स्‍टेशन के पास पटरी से उतरे

उत्‍तर प्रदेश में सियालदह-अजमेर एक्‍सप्रेस ट्रेन के पन्‍द्रह डिब्‍बे आज तड़के कानपुर देहात जिले के रूरा रेलवे स्‍टेशन के पास पटरी से उतर गए। यह दुर्घटना सवेरे लगभग साढ़े पांच बजे हुई, जिसमें 66 यात्री घायल हो गए। गंभीर रूप से घायल 11 लोगों को कानपुर सिटी अस्‍पताल में दाखिल कराया गया है और 55 अन्‍य घायल व्‍यक्तियों का कानपुर देहात जिला अस्‍पताल में इलाज चल रहा है। उत्‍तर-मध्‍य रेलवे के मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी बिजय कुमार ने एक पुलिस अधिकारी के हवाले से दी गई कुछ मीडिया रिपोर्टों का खंडन किया है कि इस दुर्घटना में दो लोगों की मौत हो गई है।

राहत और बचाव कार्य पूरे जोरों पर हैं। आरंभिक खबरों में बताया गया है कि रेल को जिन पटरियों से गुजरने का सिग्‍नल दिया गया था, वह उसे छोड़कर दूसरी पटरियों पर चली गई। रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने कहा है कि सभी यात्रियों को आवश्‍यक सहायता मुहैया कराई जा रही है ताकि उन्‍हें कम से कम असुविधा हो। श्री प्रभु ने कहा कि वे स्‍वयं स्थिति पर नजर पर रखे हुए हैं। कई ट्वीट संदेशों में उन्‍होंने कहा कि दुर्घटना का कारण पता लगाने के लिए भलीभांति जांच की जायेगी और पीडि़तों को अनुग्रह राशि प्रदान की जायेगी।

केन्‍द्रीय खाद्य प्रसंस्‍करण राज्‍य मंत्री साध्‍वी निंरजन ज्‍योति दुर्घटनास्‍थल पर पहुंच चुकी हैं। यात्रियों को उनके गन्‍तव्‍य स्‍थान तक पहुंचाने के लिए एक बचाव रेलगाड़ी दुर्घटनास्‍थल रूरा पहुंच गई है। रेलगाड़ी के पलटने से कानपुर-दिल्‍ली रेल खंड पर रेलगाडि़यों की आवाजाही बुरी तरह प्रभावित हुई है। उत्‍तर-मध्‍य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी ने आकाशवाणी को बताया कि कानपुर-दिल्‍ली खंड पर 30 से अधिक रेलें देर से चल रही हैं। हमारे संवाददाता ने बताय है कि कई अन्‍य रेलें मुरादाबाद-लखनऊ-मुगलसराय और अलीगढ़-चंदौली-बरेली रेलमार्गों से चल रही हैं। रेल अधिकारियों का कहना है कि बोगियों में फंसे सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। फिर भी एनडीआरएस की टीमें और रेलवे के बचाव दस्‍ते पटरी से उतरे सभी 14 डिब्‍बों की सघन तलाशी ले रहे हैं, ताकि अब तक फंसे हुए किसी व्‍यक्ति को बाहर निकाला जा सके। मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को 50-50 हजार और मामूली घायलों को 20-25 हजार रुपये की आर्थिक सहायता का ऐलान किया है। दुर्घटना के कारण दिल्‍ली-कोलकाता रेल मार्ग फिलहाल बाधित है, जबकि कई ट्रेनों के रूट में या तो परिवर्तन कर दिया गया है या उन्‍हें रद्द कर दिया गया है