सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

10 अप्रैल का ऐतिहासिक महत्व

संग्रहकर्ता: नीलकण्ठ मणि पुजारी (विशिष्ट संपादक इंडियन वॉयस 24)-


10 अप्रैल की महत्वपूर्ण घटनाएँ:

1868 – इथियोपिया में ब्रिटिश और भारतीय सेना ने टेवॉड्रोज़ द्वितीय (Tewodros II) की सेना को हराया और इस युद्ध में 700 इथियोपियन मारे गये, जबकि सिर्फ़ दो ब्रिटिश-भारतीय सैनिक शहीद हुए।
1999 – भारत और पाकिस्तान के दो शीर्ष औद्योगिक संघों ने भारत-पाकिस्तान चैम्बर्स आफ़ कामर्स का विधिवत गठन किया।
2000 – पाकिस्तान को निर्गुट संगठन से निकालने का भारत का प्रस्ताव गुटनिरपेक्ष देशों के विदेश मंत्रियों के सम्मेलन में मंजूर।
2001 – भारत व ईरान के बीच तेहरान घोषणा-पत्र पर हस्ताक्षर।
2002 – 15 सालों में पहली बार एलटीटीई के सुप्रीमो वी. प्रभाकरण ने प्रेस कांफ़्रेस में भाग लिया।
2003 – इराक पर अमेरिका का कब्ज़ा।

10 अप्रैल को जन्मे व्यक्ति:

1880 – सी. वाई. चिन्तामणि – स्वतंत्रता पूर्व भारत के प्रतिष्ठित संपादकों तथा उदारवादी दल के संस्थापकों में से एक थे।
1894 – घनश्यामदास बिड़ला – भारत के उद्योगपति, स्वतंत्रता-संग्राम सेनानी तथा बिड़ला परिवार के एक प्रभावशाली सदस्य।
1897 – प्रफुल्लचंद्र सेन – बंगाल के नेता,गांधी जी के अनुयायी और स्वतंत्रता सेनानी थे ।
1928 – मेजर धनसिंह थापा, परमवीर चक्र सम्मानित भारतीय सैनिक ।
1931 – किशोरी अमोनकर – हिंदुस्‍तानी शास्‍त्रीय परंपरा की प्रमुख गायिकाओं में से एक और जयपुर घराने की अग्रणी गायिका।
1932 – श्याम बहादुर वर्मा – बहुमुखी प्रतिभाशाली, अनेक विषयों के विद्वान, विचारक और कवि।
1952 – नारायण राणे- राजनेता और पूर्व मुख्यमंत्रीमहाराष्ट्र।

10 अप्रैल को हुए निधन:

1984 – नाजिश प्रतापगढ़ी – उर्दू के सुप्रसिद्द शायर व कवि।
1995 – मोरारजी देसाई – भारत के एक स्वाधीनता सेनानी और भारत के छ्ठे प्रधानमंत्री।

✍ विशेष:

🔅 आज सोमवार को👉 श्री सत्यनारायण / पूर्णिमा व्रत, नरसिंह दोलोत्सव, श्रीशिवदमनोत्सव, हाटकेश्वर जयन्ती, हजरत अली जयन्ती ।

10 अप्रैल के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव:

🔅 जल संसाधन दिवस ।
🔅 रेल सप्ताह ।