ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

नक्सलियों की बर्बरता में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद

छत्तीसगढ़ के सुकमा ज़िले में सीआरपीएफ की नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 25 जवान शहीद हो गए । बुर्कापाल में चिंतागुफा के पास लगभग 300 नक्सलियों  ने दस्ते पर घात लगाकर हमला कर दिया । जवानों ने फायरिंग का जवाब दिया । कई नक्सलियों को जवाबी फायरिंग में सुरक्षा जवानों ने मार गिराया । इस दौरान नक्सलियों की गोलीबारी में 25 जवान शहीद हो गए । ज्ञात हो कि सुकमा के चिंतागुफा में सीआरपीएफ की टीम सड़क निर्माण कार्य की सुरक्षा में लगी हुई थी ।

 नक्सलियों ने डराकर सड़क का काम बंद करा दिया था। इसी के चलते सीआरपीएफ ने रोड ओपनिंग पार्टी भेजी थी। इस दल में 90 जवान शामिल थे । नक्सलियों ने सीआरपीएफ के हथियार भी लूट लिए। घटनास्थल पर सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। एक हेलीकॉप्टर भी घायल जवानों को निकालने के लिए घटनास्थल पर भेजा गया है। स्थानीय अस्पताल में घायलों का इलाज चल रहा है, वहीं ट्रॉमा वालों को रायपुर भेजा गया है।

हमले की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा- “छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ के जवानों पर हमला कायराना और निंदनीय है। हम हालात पर करीबी नजर रखे हुए हैं।” ट्विटर पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी हमले की निंदा करते हुए लिखा- “सुकमा में सीआरपीएफ जवानों की हत्या से बहुत दुखी हूं। शहीदों को मेरी श्रद्धांजलि और परिवारों के प्रति सहानुभूति।” हमले के बाद अपना दिल्ली दौरा बीच में ही रोक छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह ने रायपुर पहुंच गए हैं । नक्सलियों ने पिछले महीने की 11 तारीख़ को भी सुकमा में ही घात लगाकर सीआरपीएफ़ जवानों पर हमला किया था, जिसमें 12 जवान शहीद हो गए थे। केंद्र सरकार नक्सली प्रभावित इलाकों में विकास कार्यों पर ध्यान देकर उन्हें मुख्धारा में लाने की कोशिश में जुटी है, जिससे ये देशी आतंकी बौखला गए हैं। सरकार के विकास कार्यों का तेज़ी से असर हो रहा था और नक्सली हमलों में काफी कमी भी आ गई थी । यह कायराना हमला शासन पर दबाव बनाने के लिए किया गया है ।

url and counting visits