रामलला श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या में मन्दिर हेतु हुआ भूमि पूजन

मैं बेटी हूँ ! मुझे दुनिया में आने दो

डिजिटल उत्सव 4th दिन

अवनीश मिश्र (यूपी हेड)

  • समाजिक जागरूकता फेसबुक लाइव सेशन का चौथा दिन
  • डिजिटल उत्सव में कन्या भ्रूण हत्या, अवसाद एवं सुसाइड, दहेज हत्या एवं डिजिटल इंडिया थीम पर हुई प्रस्तुतियां
  • बिहार से वैष्णवी ने जीवन अनमोल है पर प्रस्तुति से दर्शकों का दिल जीता

लखनऊ : लोगों को घर बैठे सामाजिक जागरूकता एवं सामाजिक संस्कृति से जोड़ने के मकसद से अंजली फ़िल्म प्रोडक्शन्स के पेज पर चल रहे डिजिटल उत्सव के चौथे दिन कई मुद्दों पर दर्शकों का ध्यान केंद्रित किया गया। यह लाइव उत्सव अंजली फ़िल्म प्रोडक्शन्स और सीटीसीएस फैमिली के सहयोग से किया जा रहा।

शनिवार को उत्सव के चौथे दिन आरवी श्रीवास्तव ने बाल श्रम मुद्दे को अपनी थीम बनाई जिसके तहत आरवी ने धुंधला धुंधला से बचपन है गीत गाया एवं दिल है छोटा सा छोटी सी आशा पर गायन प्रस्तुति के उपरांत चाइल्ड लेबर पर स्पीच देकर दर्शकों से बाल श्रम करवाने वालो का विरोध करने का आवाहन किया।

प्राची अरोड़ा ने देशभक्ति गीत सुनो गौर से दुनिया वालो,ए वतन मेरे वतन आबाद रहे तू पर नृत्य करने के उपरांत जवानों को समर्पित कविता कही।

पांच वर्षीय स्वीटी के नाम से मशहूर सोनाली श्रीवास्तव ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और दहेज उत्पीड़न को केंद्र में रखकर ओ बाबुल प्यारे पर नृत्य,मैं बेटी हूँ मुझे आने दो कविता गायन एवं बाबुल प्यारे पर भावभीनी प्रस्तुति दी।
बिहार के दरभंगा से कुमारी वैष्णवी ने अमूल्य जीवन,लाइफ इज़ प्रीशियस अर्थात जीवन अनमोल है थीम पर नृत्य एवम गायन प्रस्तुति के माध्यम से समाज मे सुसाइड-आत्महत्या कर लेने वाले युवकों को ओ सैया, अभी मुझमे कहीं बाकी थोड़ी सी है जिंदगी, दिल बेचारा सांग पर नृत्य व है जिंदगी इतनी खूबसूरत ग़ज़ल पर हारमोनियम वाद्ययंत्र के माध्यम से गायन प्रस्तुति कर ये संदेश दिया कि हमे जीवन को यूं ही नही गवाना चाहिए और सुसाइड जैसे कृत्यों को अपनाने से पहले अपने घर परिवार के सदस्यों के बारे में भी सोचना चाहिए
शाम्भवी मिश्रा ने पीएम मोदी की डिजिटल इंडिया स्कीम को पोस्टर के माध्यम से बताया एवं डिजिटल होने के क्या लाभ है यह जानकारी भी लाइव सेशन में दी।

आन्या अग्रवाल ने आज भी समाज में व्याप्त भ्रूण हत्या के प्रति अपनी प्रस्तुतियों से विरोध प्रदर्शन किया इसके तहत जी लेने दो मुझे जी लेने दो वह मेरी मां मुझे जी लेने दो पर नृत्य प्रस्तुति,भ्रूण हत्या पर लिरिकल नाटक मंचन एवं अन्य कई गीतों पर भ्रूण हत्या को रोकने का निवेदन किया।
कार्यक्रम प्रभारी अर्चना पाल ने बताया कि रविवार को डिजिटल उत्सव का समापन भी विभिन्न।मुद्दों को लेकर समाप्त होगा। इस लाइव सेशन का संचालन आनंद किशोर चौधरी कर रहे है एवं टेक्निकल सपोर्ट संदीप उपाध्याय के निर्देशन में हो रहा है।

url and counting visits