सण्डीला इलाके में बुखार से 12 घंटों में बालक सहित 8 लोगों की हुई मौत, गांव में पीएचसी होने के बावजूद तीन लोगों की बुखार से मौत

           सण्डीला इलाके में फ़ैले बुखार से बीते 12 घंटो के दौरान बालक समेत आठ लोगों की मौत हो गयी जबकि दर्जनों लोग प्रभावित है।गांवों में पंचायतीराज विभाग की घोर लापरवाही के कारण जहां गंदगी की वजह बुखार व बीमारी का कारण बन रही है वहीं स्वास्थ्य महकमा भी कोई ठोस उपाय नही अपना पा रहा जिससे बीमारी व मौतों से राहत मिल सके।
          हरदोई के सण्डीला ब्लॉक के सिकरोरी गांव में चार लोगों की मौत हो गयी जिसमे तीन का लखनऊ में चल रहा था।गांव के दर्जनों लोग सण्डीला से लेकर लखनऊ में निजी अस्पतालों में इलाज करवा रहे है।छेत्र के  गोसवा डोगवा ग्राम पंचायत में तीन लोगों की मौत हो गयी जबकि गांव में पीएचसी बना हुआ है।ग्रामीणों का कहना है कि अस्पताल में डॉक्टर नही आते है।इसी क्षेत्र के मलैया में भी पांच वर्षीय बालक की मौत हो गयी है।
               सण्डीला ब्लॉक के सिकरोरी में गंगा 18 पुत्री अवधेश,राजपती 40 पत्नी कालीचरण,गुलजार 45 पुत्र कढीले की आज मौत हुई जिनका लखनऊ में इलाज चल रहा था।वहीं इसी गांव में महनूर 20 पुत्र साबिर अली की कल मौत हुई थी।जबकि मलैया में छोटू 5 पुत्र राजेश,गोसावा के मुंशी 60 पुत्र कन्हई की कल शाम मुन्नी 50 पत्नी गजराज निवासी डोगवा व कैलाशा 65 पत्नी केदारी इजराइल खेड़ा की आज सुबह मौत हो गयी।यह तीनो ग्राम पंचायत गोसवा डोगवा में है।वही बताते है कि इलाके के ग्रामीण छेत्र में गंदगी फैली है जिसके कारण मच्छर पनप रहे है जिससे मलेरिया,वायरल और टाइफाइड जैसी बीमारी से लोग परेशान है और मौत के गाल में समा रहे है।हालांकि सण्डीला सीएचसी अधीक्षक डॉक्टर शरद वैश्य के अनुसार संक्रमण रोग नियंत्रण टीम ने एक दर्जन से अधिक गाँवो में कैम्प लगाकर दवाये वितरित कराई गई है।हरदलमऊ व सिकरोरिया में तीन-बार व मलैया में एक माह तक लगातार कैम्प लगाकर दवाये वितरित कराई गई है। अधीक्षक ने ग्रामीणों से अपील की है वह झोलाछाप डॉक्टरों से दवा न लेकर सरकारी अस्पताल में इलाज कराये गांव में टीम आने का इंतजार ने करे, गंभीर हालत में 108 का प्रयोग करे।
url and counting visits