सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

अभिनीत कुमार मौर्य ने सीमित संसाधनों व दृढ़ इच्छाशक्ति से हिमालय की दो चोटियों पर फहराया तिरंगा

कछौना, हरदोई : कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत किसान चंद्रपाल मौर्य का 21 वर्षीय पुत्र अभिनीत कुमार मौर्य सीमित संसाधनों व दृढ़ इच्छाशक्ति से हिमालय की दो चोटियों पर कड़े संघर्ष के बाद चढ़कर हिंदुस्तान का तिरंगा लहराया। इस साहसिक कदम से अपने क्षेत्र का नाम रोशन किया।

पर्वतारोही अभिनीत मौर्य के मन मे पढ़ाई के दौरान ही पर्वतारोही बनने का खयाल आया। इंटर में एंड्राइड फोन हाथ मे आने पर पर्वतारोही बनने की आवश्यक जानकारी मिली। उसने मन में अपने लक्ष्य को पाने के लिए दृढ़ इच्छा शक्ति पैदा हो गई, इसी दौरान बिहार में पर्वतारोही मिताली प्रसाद से संपर्क में आए। उन्होंने पूरी जानकारी दी और अभिनीत ने उनके संपर्क में रहकर जम्मू के पहलगाम के इंस्टिट्यूट से प्रशिक्षण प्राप्त किया। वह भारत की एवरेस्ट चढ़ने वाली प्रथम महिला बछेंद्री पाल से प्रेरित हुए हैं।