संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

लोकमंगल ही है सार्थक पत्रकारिता की परिभाषा : एडीएम

मीडिया समाज का अनुसरण नहीं मार्गदर्शन करें

स्वच्छ पत्रकारिता से ही समाज में सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिलते हैं । स्वच्छ पत्रकारिता समाज में अपना मजबूत और अद्वितीय स्थान बना लेती है । ये विचार ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन (ग्रापए) के जिला सम्मेलन में विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे एडीएम विपिन कुमार मिश्रा ने व्यक्त किये । यह सम्मेलन गायत्री प्रज्ञा पीठ पिहानी के प्रांगण में आयोजित हुआ । इसका शुभारम्भ विशिष्ट अतिथि और मुख्य अतिथि व क्षेत्राधिकारी ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया । आयोजित सम्मेलन में सर्वसम्मति से अतुल कपूर को लगातार 19वीं बार ग्रापए हरदोई का जिलाध्यक्ष मनोनीत किया गया । उपस्थित पत्रकारों आदि ने उन्हें बधाइयां दीं ।
कार्यक्रम में एडीएम ने कहा कि पत्रकारिता की मजबूती लेखनी की स्वच्छता में निहित है। मजबूती लेखनी समाज के अनुकूल विकास में अति सहयोगी साबित होती है। कार्यक्रम में क्षेत्राधिकारी नगर शैलेन्द्र सिंह ने कहाकि पत्रकारिता में निर्भीकता, स्पष्ट संवाद, स्वच्छ आलोचना आदि सम्मिलित हों तो निश्चित रूप से यह लोकमंगलकारी कार्यों को कारित करती है। लखनऊ से आये वरिष्ठ पत्रकार अजय शुक्ला ने कहा कि पत्रकार को अपनी कलम और लेखनी के माध्यम से युगधर्म को निभाना होता है, जो सार्थक पत्रकारिता का आधार है । वरिष्ठ पत्रकार दीपक मिश्रा ने कहा कि आज विश्व-पटल पर मीडिया सबसे बड़ी ताकत है, इसलिए सभी पत्रकार समाज में सकारात्मक परिवर्तनों के मद्देनजर ही लिखें । मीडिया को समाज का अनुसरण नहीं बल्कि मार्गदर्शन करना चाहिए । उन्होंने कहा कि खबर के सिद्धांत नहीं छूटने चाहिए । एसओ पिहानी श्याम बाबू शुक्ला ने लोकमंगल को पत्रकारिता की सार्थक परिभाषा बताया ।
हरदोई के वरिष्ठ पत्रकार अरुणेश बाजपेई ने कहा कि लोकमंगल पत्रकारिता का पर्याय है । लोकतंत्र के चारों स्तम्भों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि पत्रकारिता समाज और प्रशासन के बीच के संवाद का सीधा माध्यम है । इस दौरान कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे नगर पालिका पिहानी के चेयरमैन हाजी मोहम्मद साजिद अंसारी ने सभी का आभार व्यक्त किया ।