मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

छात्रा की मौत के 19 घंटे बाद प्रशासन ने ली सुध, रात के अंधेरे में परिजनों से मिलने पहुंचे एसडीएम सदर व डीआईओएस

अंतराष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर हुई थी छात्रा की मौत

          हरदोई- अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर प्रशासनिक कार्यक्रम में बदइंतजामी के चलते एक छात्रा की मौत की मौत के 19 घंटे बाद प्रशासन को परिजनों की याद आई और रात के अंधेरे में एसडीएम सदर व जिला विद्यालय निरीक्षक पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे और उन्हें सरकारी मदद का भरोसा दिया है।पिता का कहना है कि अधिकारियों ने सरकारी मदद की बात कही है।
          बताते चलें कि अन्तराष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर प्रशासन की ओर से राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें 11 हजार बालिकाओं को एक साथ ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ का संदेश देने के लिए बुलाया गया था।कार्यक्रम के दौरान आर्य कन्या इंटर कॉलेज की कक्षा नौ की छात्रा सुप्रिया शर्मा (14) की हालत बिगड़ गई थी।घर पहुंचने के बाद छात्रा की हालत बिगड़ती चली गई. देर रात परिजन उसे जिला अस्पताल ले गए, जहां इलाज के दौरान छात्रा की मौत हो गई।परिजनों का आरोप था कि तपती धूप में उनकी बेटी को घंटों बैठना पड़ा साथ ही साथ वहां पानी का कोई इंतजाम नहीं था, जिसकी वजह से उनकी बेटी की हालत खराब होती गई और उसकी मौत हो गई।
          प्रशासन की लापरवाही की वजह से हुई छात्रा की मौत के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया और जब पूरे मामले के तूल पकड़ा तो शुक्रवार रात तकरीबन 11 बजे एसडीएम ओम प्रकाश गुप्ता और डीआईओएस वीके दुबे पीड़ित परिवार से दबे पांव मिलने पहुंचे।एसडीएम और डीआईओएस ने परिजनों से मिलकर उनकी बेटी की मौत के बारे में जानकारी ली साथ ही साथ परिजनों को ढांढस बंधाया और उन्हें मदद का भरोसा दिलाया।