धूमधाम से मनाया गया अहोई अष्टमी पर्व

आज सम्पन्न हुआ पूजन के संग मनकामेश्वर मठ में पुत्र आयु को बढ़ाने हेतु अहोई माता का पूजन

आज मनकामेश्वर मठ- मन्दिर के प्रांगण में माँ पार्वती को प्रसन्न कर अपने पुत्रों को दीर्घायु हेतु अहोई अष्टमी ब्रत का पूजन श्री महन्त पूज्य देव्यागिरि जी के परम् सानिध्य में किया ब्रत का पारण सायं पूजन उपरांत होगा यह व्रत कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को अहोई अष्टमी व्रत का त्योहार के नाम से मनाया जाता है। अहोई अष्टमी के दिन माताये अपने पुत्र के लिए व्रत रखती हैं और अहोई माता की पूजा करती हैं। ऐसी मान्यता है कि अहोई अष्टमी के दिन अहोई माता की पूजा करने से माता अहोई संतानों को लंबी उम्र का वरदान देती हैं।

इस पुनीत अवसर पर श्री महन्त ने उपस्थित माताओ को सम्बोधित करते हुए कहा कि इस ब्रत की यह भी मान्यता है कि जो अनहोनी है उसे भी होनी में माँ पार्वती बदल देती है अहोई माता भी पार्वती जी का ही नाम है मैं माता पार्वती से आज संसार मे इस ब्रत को कर रही सभी माताओ की मनोकामना पूर्ण करने की प्रार्थना करती हूँ निश्चय आप सभी को इसका सुफल प्राप्त होगा ।

आज के इस महापूजन में विशेष रूप से सुनीता चौहान किरण वर्मा ,शालिनी, कमलेश यादव, रेनू निषाद, मंजू निषाद ,उपमा पांडेय रामरति ,गौरजा गिरि रितु गिरि, निधि वर्मा, पूजा वर्मा, रिचा, शगुन, कल्याणी गिरि आदि काफी संख्या में महिलाओ ने सहभागिता की।