सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

इलेक्‍ट्रॉनिक चिप के इस्‍तेमाल के जरिए कम पेट्रोल दिए जाने की घटनाओं के मद्देनजर राज्‍य के सभी पेट्रोल पम्‍पों की जांच की जायेगी

उत्तर प्रदेश में पेट्रोल पंपों पर मारे गए छापों के बाद पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने उन पर कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार और उनका मंत्रालय मिलकर राज्य में पेट्रोल पंपों का पुनः मूल्यांकन करेंगे। वहीं धर्मेंद्र प्रधान ने पेट्रोल, डीजल की चोरी करने वाले पंपों का पता लगाने के लिए देश भर में उनकी औचक जांच के आदेश दिए हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश में छापेमारी कर 7 पेट्रोल पंपों को सील कर दिया गया है।
उत्‍तरप्रदेश में पेट्रोल पम्‍पों में इलेक्‍ट्रॉनिक चिप के इस्‍तेमाल के जरिए कम पेट्रोल दिए जाने की घटनाओं के मद्देनजर राज्‍य के सभी पेट्रोल पम्‍पों की जांच की जायेगी। देश के अन्‍य भागों में भी पेट्रोल पम्‍पों की औचक जांच-पड़ताल की जायेगी। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने नई दिल्‍ली में यह जानकारी दी। उन्‍होंने कहा‍ कि इस बारे में रिपोर्ट मिलने के बाद लाइसेंस रद्द किए जाने सहित इन पेट्रोल पम्‍पों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी। श्री प्रधान ने कहा कि ये राज्‍यों की जिम्‍मेदारी है कि वे पेट्रोल पम्‍पों के माप-तौल की जांच करें क्‍योंकि माप-तौल विभाग उनके अधीन कार्यरत है। ऑयल मार्केटिंग कंपनी चारों की उपस्थिति में सारे पेट्रोल पंप की एक बार रिएसेसमेंट की जाएगी। इस प्रकार के आदेश आज विभाग ने सिर्फ उत्‍तरप्रदेश नहीं सारे राज्‍यों को भी दिया है।