सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

चार हजार पांच सौ रेजीडेंट्स डॉक्‍टर पांच दिनों के सामूहिक अवकाश के बाद काम पर वापस लौटे

डॉक्‍टर्स की कुछ मांगों पर सरकार सहमत

बम्‍बई उच्‍च न्‍यायालय के हस्‍तक्षेप और महाराष्‍ट्र मुख्‍यमंत्री देवेन्‍द्र फडणवीस के आश्‍वासन के बाद रेजीडेंट डॉक्‍टर आज सुबह अपनी पांच दिन की हड़ताल समाप्‍त कर ड्यूटी पर लौट आए। एक विज्ञप्ति में रेजीडेंट डॉक्‍टरों की महाराष्‍ट्र एसोसिएशन ने बताया है कि मुख्‍यमंत्री देवेन्‍द्र फडणवीस के साथ कल रात उनकी बातचीत संतोषजनक रही।

महाराष्‍ट्र के करीब चार हजार पांच सौ रेजीडेंट्स डॉक्‍टर पांच दिनों के सामूहिक अवकाश के बाद काम पर वापस लौटे हैं। एक बयान में महाराष्‍ट्र एसोसिएशन ऑफ रेजीडेंट्स डॉक्‍टर्स ने कहा कि राज्‍य सरकार ने आश्‍वासन पत्र जारी किया है कि उनकी मांगों पर ध्‍यान दिया जा रहा है। डॉक्‍टर्स की कुछ मांगों पर सरकार सहमत हुई है। जिनमें अस्‍पतालों में पर्याप्‍त सुरक्षा तैनात करना भी शामिल है । दो पास प्रणाली प्रति मरीज़ कैजुअल्‍टी वार्ड में और आम वार्ड में प्रत्‍येक मरीज पर एक पास की अनुमति दी जायेगी। सुबह साढे सात बजे से साढ़े आठ बजे और शाम साढे चार बजे से साढे छह बजे तक का समय अस्‍पताल में भर्ती मरीजों को देखने के लिए तय किया गया।