WhatsApp के लड़खड़ाने लगे पैर । देखिए पूरी रिपोर्ट…

किसान पर जानलेवा हमला, हमलावरों की गिरफ़्तारी में हाँफ रही कोखराज पुलिस

कौशाम्बी से ब्यूरो चीफ एमडी मौर्य की रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश के जनपद कौशाम्बी के कोखराज थाना क्षेत्र में कई संगीन मामलों में वाछित रहे अपराधी का हौसला बुलंद है। कोटेदार, दूध डेयरी किसानों को अधमरा करके पैर हाथ तोड़ने से लेकर हत्या करने के आरोप में उम्र कैद जैसी सजा में हाईकोर्ट से जमानत पर छूटे माफिया कोखराज क्षेत्र में आतंक मचा रखे है। 17 वें दिन पीड़ित की सूचना पर पकड़े गए हबीब अहमद को पुलिस ने रात को छोड़ दिया जो घटना का नाम नामजद आरोपी था।

इसी बात से नाराज पीड़ित परिवार नियामत रज़ा उर्फ लाला को घायल अवस्था में पुलिस अधिक्षक कार्यालय मंझनपुर पहुंच कर अपर पुलिस अधीक्षक समर बहादुर सिंह से शिकायती पत्र देते हुए दर्जनों मुकदमे के बारे में बताया। धारा 308, 307, 304, 323, 325, 147,148, 504, 506 जैसे संगीन धाराओं में दर्जनों मुकदमें कोखराज में पंजीकृत है।
अपर पुलिस अधिक्षक समर बहादुर सिंह ने आश्वासन दिया कि आरोपियों को गिरफ्तार करके उन पर कठोर कार्यवाही कर जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

प्रार्थी के पुत्र अतीक अहमद पुत्र नियमत रजा उर्फ लाला निवासी ग्राम बरीपुर थाना कोखराज ने बताया की दिसंबर 2020 को गांव के दबंग सजायाफ्ता अभियुक्त बदरे आलम, सरवरे आलम, इब्ने अहमद, हसीन अहमद उर्फ गुड्डू व हबीब अहमद जान मारने की नियत से पीड़ित अहमद रजा उर्फ लाला को कुल्हाड़ी, लोहे की राड़ लाठी-डंडे से मार पीट कर मरणासन्न स्थिति में छोड़कर भाग गए थे। जिससे प पीड़ित के दोनों पैर दाहिना हाथ तोड़ दिया गया था। 17 वे दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस एक मुलजिम को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।
गिरफ्तार किए गए मुलजिम को रात में छोड़ दिया गया। इसी बात से नाराज पीड़ित परिवार अपर पुलिस अधिक्षक से मिलकर बताया की अभियुक्त गणों को तत्काल गिरफ्तार नहीं किया गया तो कोई बड़ी वारदात हो सकती है, क्योंकि दबंग लोग कई बार प्रार्थी के पुत्र व पिता को पूर्व में भी कई बार जान से मारने का प्रयास कर चुके हैं। जिसमें भी मुकदमा दर्ज हुआ था। उपर्युक्त अभियुक्त गण सज़ायाफ्ता एवं खतरनाक किस्म के लोग है। जिसके विरुद्ध दर्जनों मुकदमे कई थानों में दर्ज है।

बाईट—अतीक अहमद, पीड़ित का पुत्र

बाईट—नियामतरजा,पीड़ित

बाईट—समर बहादुर सिंह, एएसपी कौशाम्बी

url and counting visits