ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त की देश व प्रदेश में निवेश को लेकर सकारात्मक प्रतिक्रिया

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा आज आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फैरेल व उनकी टीम के साथ देश व प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में निवेश को बढ़ावा देने हेतु गहन विचार-विमर्श किया गया। लोक निर्माण विभाग मुख्यालय स्थित तथागत सभागार में आयोजित एक बैठक में उपमुख्यमंत्री श्री मौर्य ने कहा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया का गहरा संबंध रहा है। वैश्विक चुनौतियों के दौरान भारत, ऑस्ट्रेलिया के साथ व ऑस्ट्रेलिया भारत के साथ खड़ा रहा है। देश मे सबसे अधिक जनसंख्या वाला उत्तर प्रदेश सांस्कृतिक दृष्टि से भी समृद्ध है। भारत का आस्ट्रेलिया से आयात व निर्यात भी होता है । भारत अपार संभावनाओं वाला देश है।

उन्होंने आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त के देश व प्रदेश में निवेश की रुचि व भावना की सराहना की और यहां की संभावनाओं, पर्यावरण व अवसंरचनाओं व सुरक्षा आदि के बारे में भी प्रकाश डाला।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत में निवेश किया जा सकता है। कृषि, शिक्षा, रोड, फूड प्रोसेसिंग आदि में निवेश किया जा सकता है। हम भरपूर साधन उपलब्ध कराएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि अगली बार विशाल प्रतिनिधिमंडल के साथ आयें, हम प्रपोजल देंगे। डिफेंस कॉरिडोर में भी निवेश की संभावनाएं हैं। पिछले समय में हुए विभिन्न एम0ओ0यू0 के बारे में उन्होंने प्रकाश डाला। श्री मौर्य ने कहा कि यहां स्किल्ड मैन पावर है।

रोजगार की यहां आवश्यकता है। जिन क्षेत्रों में ऑस्ट्रेलिया की तरफ से रूचि रखेंगे, उनका स्वागत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यहां मेगा फूड पार्क की भी जरूरत है। हमारा उद्देश्य किसानों की आमदनी बढ़ाना व नौजवानो को रोजगार दिलाना है। सड़कों का जाल बिछे, 24 घंटे पावर सप्लाई मिले, यह हमारी प्राथमिकताएं हैं।

उपमुख्यमंत्री ने उच्चायुक्त की कई जिज्ञासाओं को भी शांत किया। उन्होंने अंत्योदय की भावना का उद्गम कहां से हुआ, इसके बारे में भी उच्चायुक्त को बताया। उन्होंने पंडित दीनदयाल उपाध्याय, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और अटल बिहारी वाजपेई द्वारा दिए गए महामंत्रों के बारे में जानकारी दी। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि हमारे यहाँ पूजा में भी “विश्व का कल्याण हो”, “प्राणियों में सद्भावना हो” जैसे शब्दों का प्रयोग होता है। इस पर ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त ने कहा कि आस्ट्रेलिया में बड़ी मात्रा में प्रवासी भारतीय हैं। वहां उनकी क्षमता का बहुत अच्छा उपयोग हो रहा है। कोविड काल में भी प्रवासी भारतीयों के सहयोग की उन्होंने सराहना की। उन्होंने माइंस, फूड, कृषि के क्षेत्र में निवेश की इच्छा जताई, कहा कि वहां की पेंशन राशि का उपयोग करना चाहते हैं।

केशव प्रसाद मौर्य ने ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त व उनकी टीम का साल व स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया। ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त ने भी उपमुख्यमंत्री को गिफ्ट दिया। बैठक मे अपर मुख्य सचिव उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण, श्री मनोज कुमार सिंह, जिलाधिकारी कौशांबी, उद्यान निदेशक श्री आर के तोमर, उप निदेशक, उद्यान श्री विजय बहादुर सिंह, विशेष कार्याधिकारी श्री विनीत वर्मा, विशेष कार्याधिकारी श्री प्रदीप कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

url and counting visits