मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

क्वारंटीन व्यक्तियों के सम्पर्क में आने से बचें

बदायूँ: जनपद के नोडल अधिकारी सोबरन सिंह, जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने उनौला का निरीक्षण किया। यहां कोरोना से संक्रमित व्यक्ति की मौत हुई है उसका बरेली में निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था, वहां प्राइवेट लैव से उसकी कोविड-19 की रिपोर्ट पाॅजीटिव पाई गई थी। यहाँ हाॅटस्पाॅट क्षेत्र घोषित कर दिया गया है। संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने वाले चिन्हित 31 लोगों को क्वारंटीन कर इनकी जांच कराई जा रही है। इनके घरों पर नोटिस चस्पा कर दिया गया है।

तीनों वरिष्ठ अधिकारियो ने ग्रामीणों से अपील की कि इस महामारी को कतई हल्के में न लें। जरा सी लापरवाही जीवन के लिए घातक बन सकती है। क्वारंटाइन किए गए व्यक्तियों के सम्पर्क में किसी भी हाल में न आएं, यदि अनजाने में कोई व्यक्ति किसी करोना संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आ गया तो उसे भी कोरोना पाॅजीटिव होने के पूरे आसार बन जाएंगे। इस प्रकार वह भी अपने पूरे परिवार व ईष्टजनों के जीवन को खतरे में डालेगा। अपना और अपने परिवार के लिए इन बताए गए नियमों का पूर्णतया पालन करें। सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से ध्यान रखा जाए, तभी इस महामारी से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी को रोकने के लिए लाॅकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग बहुत ही प्रभावी उपाय है। खांसते, छींकते समय मुंह को रूमाल व टिश्यू से ढकें। हाथों को समय-समय पर साबुन से धोते रहे या सेनीटाइजर से साफ करें। मुंह ढकने के लिए मास्क, गमछा, तौलिया, दुपट्टा या बड़ी रूमाल का प्रयोग करें, बुर्जुगों एवं बच्चों का विशेष ध्यान रखे। सभी लोग घर में रहें, सुरक्षित रहें, स्वस्थ्य रहें।