भू-माफिया के आगे बौना साबित हुआ प्रशासन, कब्ज़ा मुक्त कराने गई राजस्व टीम बैरंग वापस

राहुल मिश्र, बघौली-

बघौली थाना क्षेत्र के अंतर्गत गांव नीभी में दबंगों द्वारा गरीब किसान की जमीन कब्जा कर ली गई थी । दबंगों द्वारा पीड़ित की जमीन पर से कब्जा हटवाने गए लेखपाल प्रमोद त्रिपाठी, राममिलन मौर्य, आनंद अस्थाना की संयुक्त राजस्व टीम को बैरंग वापस लौटना पड़ा ।

मिली जानकारी के अनुसार रवि शंकर मिश्र पुत्र मुन्नालाल के खेत में इनके गांव के ही निवासी कैलाश, मेवा, रमेश, रामसेवक, श्री राम, सोनू, लवकुश आदि जबरदस्ती अपने घरों का गंदा पानी बहा रहे हैं और इनमें से कुछ लोगों ने पीड़ित के खेत में कुछ अवैध कब्जा भी कर लिया है । पीड़ित ने कई बार अपने खेत की नाप के लिए जिलाधिकारी से लेकर सभी अधिकारियों को प्रार्थना पत्र दिया । जिलाधिकारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए यहां के तत्कालीन लेखपाल और कानूनगो को पीड़ित की जमीन की नाप करवा कर दबंगों द्वारा पीड़ित की जमीन से अवैध कब्जा हटवाने के लिए आदेशित किया था, जिसके लिए दिनांक 7 फरवरी को लेखपाल कानूनगो पुलिस प्रशासन के साथ जेसीबी मशीन लेकर दबंगों से पीड़ित की जमीन से कब्जा खाली करवाने पहुंच गए और पीड़ित की जमीन की नाप करवा कर जेसीबी मशीन से कब्जा हटवाने लगे । उसी समय लेखपाल के नंबर पर आए एक फोन से राजस्व टीम बैरंग वापस हो गई ।

पीड़ित के अनुसार सोनू और लवकुश के बड़े भाई रघुवीर मिश्र उप जिलाधिकारी संडीला के पेशकार हैं और उन्होंने ही लेखपाल को फोन करके कब्ज़ा न हटवाने के लिए कहा था । जिससे राजस्व टीम दबंगों से बिना कब्जा हटवाए ही जेसीबी मशीन लेकर बैरंग वापस चली गई । खैर मामला कुछ भी हो लेकिन प्रशासन की कार्यशैली गांव में चर्चा का विषय बनी हुई है । वहीं पीड़ित असहाय नजरों से प्रशासन द्वारा किए गए एकपक्षीय फैसले को देखता रह गया ।

url and counting visits