कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

चिड़िया (बाल कविता)

चिड़िया उड़ती
चू-चू करती,
पंख फैलाकर
नील गगन में
उड़ती कभी यहांँ
कभी वहाँ ।
नन्हें-नन्हें
पंखों से भरती
बड़ी-बड़ी उड़ाने ।
छूकर क्षितिज को
कभी हँसती
कभी मुस्काती।

राजीव डोगरा
(भाषा अध्यापक)
गवर्नमेंट हाई स्कूल ठाकुरद्वारा
पता-गांव जनयानकड़
पिन कोड -176038
कांगड़ा हिमाचल प्रदेश
9876777233
rajivdogra1@gmail.com