मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

24 सितंबर को ईंट भट्ठा व्यवसायी सरकार की नीतियों के खिलाफ करेंगे प्रदर्शन

            हरदोई- सरकार द्वारा सरकारी निर्माण में लाल ईंटो के प्रयोग बंद करने का भट्टा समिति विरोध करेगी।हरदोई की उत्तर प्रदेश ईंट भट्ठा निर्माता समिति ने प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अन्य सरकारी निर्माण कार्यों में भट्टे की लाल ईंटों के प्रयोग को बंद करने के फैसले का विरोध किया। साथ ही लाल ईंटों को बंद करने के विरोध में 24 सितंबर को व्यापारी लखनऊ में प्रदेश स्तरीय धरना प्रदर्शन करेंगे।
         हरदोई में उत्तर प्रदेश ईंट निर्माता समिति के अध्यक्ष मुकेश अग्रवाल ने कहा कि सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अलावा सभी सरकारी कार्यो में लाल ईंटों का प्रयोग बंद करने का जो फैंसला लिया है उसका ईंट निर्माता विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि लाल ईंट अच्छी और इको फ्रेंडली हैं। जबकि प्रधानमंत्री आवास योजना और अन्य विभिन्न योजनाओं और सरकारी निर्माण में फ्लाई एस ब्रिक्स एवं ब्लाक्स का प्रयोग पूर्णत्या बंद किया जाए। क्योंकि इसमें रेडियो एक्टिविटी के कारण दमा, कैंसर एवं विभिन्न प्रकार के चर्म रोग होते हैं। भट्टों में बिना किसी सरकारी सहायता के रोजगार सृजन, सुरक्षित राजस्व संग्रह तथा लाल ईंटों के इको फ्रेंडली गुण की सार्वभौमिक प्रमाणिकता के कारण निर्माण लाल ईंटों का प्रयोग ही किया जाए। इसके अलावा वन पर्यावरण जलवायु परिवर्तन मंत्रालय भारत सरकार की नोटिफिकेशन जो कि 22 दिसंबर 2014 एवं 25 जनवरी 2016 जिसमें फ्लाई एस ब्रिक्स का प्रयोग बाध्यकारी किया गया है उसे तत्काल निरस्त किया जाए।
            उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के एक वर्ष पूर्ण होने पर प्रदेश के मुख्य मंत्री द्वारा ईंट मिट्टी से रायल्टी को समाप्त करने की घोषणा के अनुसार भट्टों के लिए देय ईंट, मिट्टी पर रायल्टी समाप्त किए जाने का आदेश शीघ्र निर्गत किया जाए। ईंट मिट्टी रायल्टी पर जीएसटी की देयता समाप्त की जाए। ईंट मिट्टी निकासी के लिए पर्यावरण स्वच्छता प्रमाण पत्र की बाध्यता समाप्त की जाए। कुशीनगर, पडरोना, महाराजगंज, देवरियां, मैत्रीय परियोजना, प्रभावित क्षेत्र में भगवान बुद्ध की प्रतिमा स्थापित होने तक ईंट भट्टों का संचालन आवश्यक सहमति प्रदान की जाए। परमपरागत ईंट भट्टों को जिग जैग में परिवर्तन तब तक न बाध्यकारी किया जाए जब तक प्रदूषण बोर्ड/भारत सरकार कोई प्रमाणिक डिजाईन उपलब्ध न कराए जाएं। 24 सितंबर को निर्माता समिति लखनऊ में धरना प्रदर्शन करेगी।इस दौरान महामंत्री योगेंद्र दत्त मिश्र भी मौजूद रहे।