WhatsApp के लड़खड़ाने लगे पैर । देखिए पूरी रिपोर्ट…

बालाकोट-घटना के घटने से चार दिनों-पूर्व अर्णब गोस्वामी को जानकारी कैसे मिली?

January 20, 2021 0

— आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय प्रधानमन्त्री, गृहमन्त्री, रक्षामन्त्री, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार तथा वायुसेना-प्रमुख इस अति गम्भीर विषय पर फँस चुके हैं। अर्णब ने बार्क के पूर्व-प्रमुख अधिकारी पार्थो दास गुप्ता से उक्त विषय पर ह्वाट्सऐप […]

मोदी-सरकार की ग़ुलाम मानसिकता

January 19, 2021 0

— आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय न्यू इण्डिया की मोदी-सरकार! अपने यातायात-पुलिस-तन्त्र को सचेत कर दो कि हमारी ‘देवनागरी लिपि’ और ‘हिन्दी-भाषा’ के प्रयोग के प्रति ‘नीचता की पराकाष्ठावाला कृत्य न करे, अन्यथा जब हम अपनी […]

‘मुक्त मीडिया’ का ‘आज’ का सम्पादकीय

January 14, 2021 0

उच्चतम न्यायालय का एकपक्षीय और असत्यनिष्ठ दृष्टिकोण — आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय देश की न्यायपालिका अपनी शुचिता खोती जा रही है; अपनी न्यायप्रियता की पारदर्शी नीति से पृथक् होती जा रही है। उसकी गतिविधियाँ जिस […]

न्यू इण्डिया की मोदी-सरकार को उच्चतम न्यायालय की फटकार और लताड़!

January 11, 2021 0

— आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय आज (११ जनवरी) न्यू इण्डिया की मोदी-सरकार को उच्चतम न्यायालय ने जमकर फटकारते और लताड़ते हुए कहा है कि सरकार कृषि क़ानून को स्थगित क्यों नहीं कर रही है; यदि […]

‘योगी’ हैं तो असम्भव कुछ भी नहीं !

January 4, 2021 0

शाश्वत तिवारी : निसंदेह, अब जल्दी ही ‘वैक्सीन’ का वितरण राहत की एक बड़ी खबर और नए साल 2021 का एक लाजवाब तोहफा है। हालांकि सबसे बड़ा प्रदेश होने के नाते उत्तर प्रदेश में चुनौतियां […]

रास्ते नहीं, ‘मंज़िल’ तय करें

January 3, 2021 0

आत्मपरीक्षण कर ‘सीख’ ग्रहण करें — आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय वर्ष २०२० में आपसे कहाँ-कहाँ किस-किस तरह की क्यों और कैसे भूल हुई थी? किस-किस व्यक्ति ने आपके साथ किस-किस प्रकार का विश्वासघात किया था […]

आइए! आत्म-परीक्षण करें

December 31, 2020 0

— आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय वर्ष का वर्तमान ‘अतीत’ होनेवाला है। सहजतापूर्वक समय-चक्र गतिमान है। हम सब का बहुत कुछ कभी न खुलनेवाली एक गठरी में बाँध कर रख दी गयी है, जिसे हम याद […]

न्यू इण्डिया की मोदी-सरकार जनता को लूट रही!

December 30, 2020 0

—आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय इससे अधिक विडम्बना क्या होगी कि न्यू इण्डिया की मोदी-सरकार जनसामान्य से जुड़े हर क्षेत्र में उसका मानसिक और आर्थिक दोहन करती आ रही है। सच तो वह है कि वह […]

संवैधानिक संस्थाओं और संविधान का दुरुपयोग : एक गम्भीर प्रश्न

November 26, 2020 0

‘संविधान-दिवस’ के अवसर पर ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज के तत्त्वावधान में ‘संवैधानिक संस्थाओं और संविधान का दुरुपयोग : एक गम्भीर प्रश्न’ विषय पर’ २६ नवम्बर को प्रयागराज में एक आन्तर्जालिक राष्ट्रीय बौद्धिक परिसंवाद का आयोजन किया गया। […]

लघुत्व (लघुता) से ‘प्रभुत्व’ (प्रभुता) की ओर बढ़ें!

November 20, 2020 0

● चिन्तन-अनुचिन्तन के आयाम ● — आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय किसी भी विषय में किसी के साथ ‘लिपिर-लिपिर’ नहीं की जाती है। सहजतापूर्वक जब तक पारस्परिक सहमति बनी रहे तब तक एक-दूसरे के साथ ईमानदारी […]

प्रतीक्षा है, कलियुग में ‘महाभारत’ होने की

November 17, 2020 0

‘मुक्त मीडिया’ का आज का सम्पादकीय — आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय देश के स्नातक-उपाधि-प्राप्त समस्त अनियोजित (बेरोज़गार) युवाओं के लिए सरकार प्रति युवा १० हज़ार रुपये प्रतिमाह ‘मानधन’ देने की व्यवस्था करे, अन्यथा युवावर्ग दिग्भ्रमित […]

यह है, न्यू इण्डिया के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी का चरित्र

November 4, 2020 0

— आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय इन दिनों ‘जुम्लेबाज़ दी ग्रेट’ नरेन्द्र मोदी बिहार के चुनावी सभाओं में जाकर केवल एक राग अलाप रहे हैं– कुछ लोग ‘भारत माता की जय’ बोलने का विरोध कर रहे […]

उत्तरप्रदेश-उपचुनाव का गिरगिटिया चरित्र!

November 3, 2020 0

— आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय गिरते-पड़ते उत्तरप्रदेश की सात सीटों पर कुल मतदान-प्रतिशत ५० से ५५ रहा है। इस मतदान-प्रतिशत से मतदाताओं की उदासीनता साफ़ तौर पर सामने आ गयी है। ये चुनाव देवरिया, उन्नाव, […]

चिन्तनः चितइ-चितइ ‘चितवन पुहुप’, रूकि थमि मनु मुसुकाइ

October 31, 2020 0

चिन्तनः चितइ-चितइ ‘चितवन पुहुप’, रूकि थमि मनु मुसुकाइ। यह चितवन का वृक्ष है। इसकी पुष्पीभूत अवस्था इसे आनन्दातिरेक कर रही है। शरदागमन के साथ ही इसका पुष्प शृंगार आरम्भ होता है । शुकी-श्वेत आभायुक्त इसके […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय का ‘न्यू इण्डिया की कथित मोदी-सरकार’ से किये गये प्रश्न

October 24, 2020 0

नरेन्द्र मोदी उत्तर दें :– ★ आप तो पिछले छ: वर्षों से अपनी बीभत्स सरकारी नीतियों से धर्म, जाति तथा वर्ग के नाम पर भारतीय समाज को बाँटते आ रहे हैं। ऐसे में, आपने तो […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय का मुक्त पत्र न्यू इण्डिया की मोदी-सरकार के नाम

October 22, 2020 0

‘न्यू इण्डिया’ की मोदी-सरकार! अब तुम्हीं बताओ, हमारी गृहस्थी कैसे जीवित रहेगी? हमें महँगाई से मारने से अच्छा होगा, अपने कट्टर हिन्दूवादियों को लगाकर हमें इस दुनिया से विदा करा दो या फिर तुम विदा […]

क्रिया की ‘प्रतिक्रिया’

October 20, 2020 0

★’हिन्दी साहित्य सम्मेलन’, प्रयागराज के सहायक मन्त्री श्यामकृष्ण पाण्डेय जी के नाम आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय का मुक्त पत्र सम्मान्य सहायक मन्त्री श्यामकृष्ण पाण्डेय जी!सादर अभिवादन। सस्ती लोकप्रियता बटोरने के उद्देश्य से अधम मनोवृत्ति का […]

आचार्य पृथ्वीनाथ पाण्डेय के प्रति रविनन्दन सिंह की की गयी आपत्तिजनक टिप्पणी का उत्तर

October 19, 2020 0

‘हिन्दुस्तानी एकेडेमी’ को अपनी जागीर समझनेवाला निरीह जीव रविनन्दन सिंह की चरित्रगाथा सुनिए! रविनन्दन सिंह की भाषाशैली बहुत अलग हटकर है। लगता नहीं कि अपने विद्यार्थीजीवन में मेरी किताबें पढ़कर अपना भविष्य उन्नत बनानेवाला रविनन्दन […]

यह ‘सरस्वती’ का सम्मान नहीं, ‘अपमान’ है

October 17, 2020 0

●आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला● अच्छा लगा था, यह जानकर कि वर्षों से अप्रकाशित ‘सरस्वती’ का पुनर्प्रकाशन होनेवाला है; परन्तु सम्बन्धित आमन्त्रणपत्र में तथ्यों और शब्दप्रयोगों में अक्षम्य दोष देखकर यह सुस्पष्ट हो चुका […]

बिहारवासियों के नाम आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की खुली चिट्ठी

October 17, 2020 0

बिहार के काका, चाचा, दादा, भाई लोगन!राम-राम। रऊवाँ सभे ख़ूब सोचबिचारि कइ लिहीं। आपना के ‘सुसासन बाबू’ कहेवाला नेतवा केतना चटकोर आ चाल्हाकु बावे। सुरू-सुरू में नितिसवा जब मुखमनतरी बनल रहुए तब ले नीमन-नीमन काम […]

1 2 3 21
url and counting visits