स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय, इलाहाबाद में ‘मौत का गड्ढा’!

August 15, 2018 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय यह एक ऐसा गड्ढा है, जिससे होते हुए, देखते हुए, देखकर बुदबुदाते हुए तथा ‘धृतराष्ट्र’ बनते हुए, न जाने कितने चिकित्सक, शासकीय अधिकारी, नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारी तथा उस वार्ड का सभासद, […]

‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ की नुक्कड़ परिचर्चा ‘सोनेवाले!जागो अब’ सम्पन्न

August 12, 2018 0

इलाहाबाद के साहित्यिक इतिहास में पहली बार ‘नुक्कड़ साहित्यिक परिचर्चा’ और ‘पर्यावरण पर केन्द्रित काव्यपाठ’ का आयोजन प्रकृतिसंरक्षण-मंच ‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ के तत्त्वावधान में भाषाविद् डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की अध्यक्षता और शिक्षाविद् प्रो० रामकिशोर शर्मा के […]

इलाहाबाद का प्रशासनतन्त्र नकारा निकला!

August 8, 2018 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय यह कैसा ‘कर्मकाण्डीय धर्म’ है, जहाँ ‘धर्म’ के नाम पर समूची मानव-सभ्यता का बलिदान करने के लिए शासन से प्रशासन तक प्रतिबद्ध है। मुट्ठीभर काँवरिये के लिए ‘विशेष सुविधा’ की अलग से […]

कुंभ मेले में फर्जी टेंडर का मामला

August 5, 2018 0

लखनऊ – गोमती नगर पुलिस ने नैनी जेल में बंद मुख्य अभियुक्त मनोज तिवारी के भाई अनुज त्रिपाठी को किया गिरफ्तार । साथी राजेंद्र उर्फ नीरज पांडे को भी किया गिरफ्तार। सरगना मनोज तिवारी पर […]

सुरेशचन्द्र जी की रचना में विचारजीविता वर्तमान है

August 3, 2018 0

‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ की ओर से २ अगस्त, २०१८ ईसवी को कटरा, इलाहाबाद में तीन चरणों में एक सारस्वत समारोह आयोजित किया गया था। समारोह का उद्घाटन दीपप्रज्वलन कर किया गया था, तत्पश्चात् रसराज अवनेन्द्र पाण्डेय […]

राजर्षि टण्डन जी स्वदेशी के रक्षक थे— डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय

August 3, 2018 0

नगर की बौद्धिक, शैक्षिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक संस्था ‘सर्जनपीठ’ की ओर से कुशल वक्ता, सन्त राजनेता तथा विदेह-जैसे वीतरागी महामानव राजर्षि पुरुषोत्तम दास टण्डन की जन्मतिथि का आयोजन आज (१ अगस्त, २०१८ ईसवी) कीडगंज में किया […]

वयोवृद्ध कवि-साहित्यकार डॉ० सुरेश चन्द्र श्रीवास्तव नहीं रहे

July 21, 2018 0

नगर के प्रतिष्ठित कवि और साहित्यकार डॉ० सुरेश चन्द्र श्रीवास्तव का २० जुलाई, २०१८ ईसवी को उनके कटरा-स्थित निवास में निधन हो गया था। ८० वर्षीय वयोवृद्ध श्री श्रीवास्तव पत्नी, एक पुत्र , तीन पुत्रियाँ […]

‘सर्जनपीठ’ की ओर से आयोजित ‘श्रद्धांजलि-सभा नीरज के गीतों में प्राणों का स्पन्दन बोलता है : श्याम विद्यार्थी

July 20, 2018 1

गोपाल दास नीरज ने कठोर और गहन साधना की थी, जिसके कारण उन्हें गीत-क्षेत्र में ऐसी सिद्धि मिली, जिसके आस-पास भी उनके समय का कोई कवि नहीं ठहरता। इसका प्रमुख कारण यह है कि शिल्प […]

इलाहाबाद में बरखा रानी का ताण्डव!

July 12, 2018 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय इस समय अकस्मात् बरखा रानी अपने लाव-लश्कर— आँधी-पानी-बादल-बिजली-सहित– इलाहाबाद में धमक चुकी हैं और तड़़क-गरज के साथ इलाहाबाद को दहला रही हैं। वह इस समय इलाहाबाद के ‘गड्ढा हाऊस’ में पूरी ठसक […]

उत्तरप्रदेश लोकसेवा आयोग अथवा उत्तरप्रदेश लोकसेवा ‘भ्रष्टाचार’ आयोग?

June 22, 2018 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय १- महत्त्वपूर्ण परीक्षाओं का परीक्षाओं से पूर्व ‘सार्वजनिक’ (पेपर लीक) हो जाना। २- प्रश्नपत्रों के अन्तर्गत ‘साक्षात्कार-परीक्षाओं’ में धाँधली। ३- प्रश्नपत्रों में एक ही प्रश्न के लिए ‘अनेक वैकल्पिक’ शुद्ध उत्तरों का […]

1 2 3 7
url and counting visits