क्रांतिकारी महिला शक्ति मोर्चा,उत्तर प्रदेश ने चलाया “पक्षी बचाओ-प्रकृति बचाओ” अभियान

June 12, 2018 1

  बांदा(उत्तर प्रदेश)- सोमवार को तपती गर्मी से बेबस बेजुबान पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए क्रांतिकारी महिला शक्ति मोर्चा ने जगह जगह पानी से भरे हुए घड़ों को पेड़ों से लटकाया । जिससे गर्मी में […]

केन की धार पर खनन की मार

December 10, 2017 0

आशीष सागर- मध्यप्रदेश में अवैध खनन की पेशगी में रेत खदान धुरारा,छतरपुर को लीजिये । यहां निविदा प्राप्त ठेकेदार रामनरेश शर्मा तथा इलाके मे अपराधी छवि रखने वाले बालूमाफियाओं अवधकिशोर मिश्रा,लखन पचौरी,ओमप्रकाश तिवारी लोगों की […]

बाँदा में बदसूरत बचपन की सिसकती तस्वीर

December 4, 2017 0

ख़बर का आधार इस खबर की फ़ीचर फ़ोटो है । इस फ़ोटो में कुछ छोटे-छोटे बच्चे की रंगीन वेला यानी विवाह की शाम वर-यात्रा में रोड लाइट के लिए झूमर लिए चल रहे हैं । […]

ग्राम गाजीपुर क्षेत्र नरैनी में द्रष्टान्त संपादक अनूप गुप्ता, ऊषा निषाद ने लगाई चौपाल

November 3, 2017 1

आशीष सागर (पत्रकार एवं समाजसेवी)- गांव गाजीपुर ग्राम पँचायत खलारी में बीते 2 नंवबर को रात साढ़े नौ बजे पहुंचकर पहाड़िया खेरा, तातुल माता के मंदिर रात्रि विश्राम किया गया । गंवई भोजन के साथ […]

बाँदा से खदेड़े गए सिंडिकेट के गुर्गे

March 10, 2017 0

Amja India– प्रदेश की बदली चुनावी हवा और सत्ता का मिजाज बदलते देख बुधवार की रात से ही जहां तहां फैले सिंडिकेट के गुर्गे आज तड़के ही बाँदा जिले से खदेड़ दिए गए। सिंडिकेट ख़तम होने […]

न मिला बटन और सुई-धागा तो बच्चे ने कमीज में ताला जड़ लिया

March 8, 2017 0

आशीष सागर (प्रतिष्ठित समाजसेवी)-   बाँदा ( कमासिन- बबेरू क्षेत्र ) – यह उच्चतर पूर्व माध्यमिक विद्यालय में कक्षा 6 का छात्र है. नाम है शत्रोहन निषाद, इस बच्चे की स्कूल की ड्रेस आज गन्दी थी […]

पीएम डेढ़ अरब से अधिक आबादी को ठोस जनसंख्या नीति न दे सके

December 31, 2016 0

आशीष सागर- देश के पीएम डेढ़ अरब से अधिक आबादी को ठोस जनसंख्या नीति न दे सके, प्राकृतिक संसाधनों पर मानवीय अतिक्रमण मुक्त करने का बुनयादी खाका सुझा न पाए जिनकी वजह से सारे अपराध […]

फुटपाथ पर आबाद कैशलेस इंडिया ‘….जो असल में भारत है

November 29, 2016 0

आशीष सागर- बाँदा में इन दिनों सर्दी धूप की गुनगुनाहट के साथ दस्तक दे चुकी है. ऐसे में पड़ोसी राज्य के बंजारा,कुचबंधिये और नट जाति के समूह रोजगार के लिए यहाँ आये है ! कुछ […]

url and counting visits