सब कुर्सी का चक्कर है !

December 12, 2019 0

राम वशिष्ठ (युवा चिन्तक व फिल्म निर्देशक) : नागरिकता संशोधन विधेयक संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में पास हो गया । यह एक बहुत अच्छा बिल है जो मानवीय मूल्यों की रक्षा करता […]

‘इस्तेमाल’ किया जा रहा हमारा युवावर्ग ?

November 30, 2019 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय- आज देश में कितने बुद्धिजीवी हैं, जो हमारे राष्ट्र के भविष्य ‘युवावर्ग’ को भटकाव की राह पर जाने से रोकने का प्रयास कर रहे हैं; उसकी अवसाद और हताशा की स्थिति में […]

संस्कृतभाषा किसी की ‘बपौती’ नहीं है

November 20, 2019 0

०त्वरित टिप्पणी० डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय आश्चर्य है कि जिस व्यक्ति के पिता संस्कृत के श्लोकादिक का गायन कर अपने और परिवार की आजीविका का निर्वहण करते हैं, जिसके भाई संस्कृत-अनुरागी हैं, उनका तथाकथित आर्य की […]

दिशाहीन सरकार देश को ‘महानरक’ के दरवाज़े पर ला पटकती है

November 17, 2019 0

डॉ॰ पृथ्वीनाथ पाण्डेय (प्रख्यात शिक्षाविद्)- देश के स्नातक-उपाधि-प्राप्त समस्त अनियोजित (बेरोज़गार) युवाओं के लिए सरकार प्रति युवा १० हज़ार रुपये प्रतिमाह ‘मानधन’ देने की व्यवस्था करे, अन्यथा युवावर्ग दिग्भ्रमित हो जायेगा और नकारात्मक पथिक बनकर […]

हिन्दी की रोटी, अंग्रेज़ी की आग !

November 12, 2019 0

राघवेन्द्र कुमार ‘राघव’- हर बार की तरह इस बार भी हिन्दी दिवस हिन्दी की याद दिलाकर गुज़र गया । हिन्दी का विकास हो रहा है, प्रचार – प्रसार में बड़ी -बड़ी बातें कहते हुए नीति […]

धुंध में लिपटी राजधानी

November 5, 2019 0

राजेश कुमार शर्मा ‘पुरोहित’ शिक्षक एवं साहित्यकार- दीपावली के तीन दिनों बाद हमारे देश की राजधानी दिल्ली धुंध के काले आवरण से ढँक चुकी थी। दिल्ली में पिछले कुछ वर्षों से प्रदूषण की दर बढ़ती […]

“मैंने अतीत को ध्यान से पढ़ा है; वर्तमान को मनोयोग से सुना है तथा भविष्य को प्रत्यक्ष की भाँति देखा है” – श्रीमती इन्दिरा गान्धी

October 31, 2019 0

●आज (३१ अक्तूबर) इन्दिरा जी की बलिदान-तिथि है। ◆ आज देश को इन्दिरा जी-जैसी प्रधानमन्त्री की आवश्यकता है। विश्व की राजनीतिक क्षितिज पर देदीप्यमान महानायिका इन्दिरा प्रियदर्शिनी की पुण्यतिथि (३१ अक्तूबर) पर हमारा मुक्त मीडिया […]

भारतीय गणराज्य के संस्थापक : सरदार बल्लभ भाई पटेल

October 30, 2019 0

सन्दर्भ:- 31 अक्टूबर (जन्म दिवस) राजेश कुमार शर्मा “पुरोहित” कवि, साहित्यकार पटेल का जन्म नड़ियाद गुजरात मे हुआ। लेवा पटेल पाटीदार जाति में जन्में पटेल के पिता झवेरभाई पटेल व माता लाड़बा देवी था। ये […]

केन्द्र और महाराष्ट्र के शासन-संचालक महाराष्ट्र की स्थानीय चुनौतियों का सामना करने से भयभीत क्यों हैं ?

October 18, 2019 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय- आश्चर्य का विषय है कि चुनाव राज्यों के लिए हो रहे हैं और राज्यों की जनता के मन-मस्तिष्क में ‘अनुच्छेद ३७०’, ‘भारत-पाकिस्तान’, ‘आतंकवाद और काँग्रेस’ आदिक अप्रासंगिक विषयों का विष भरा जा […]

उत्तर प्रदेश में शैक्षिक सुधारों की दिशा में बदलाव के लिए महामुहिम शुरू

October 16, 2019 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’– 1996 से 2000 तक का दौर उत्तर प्रदेश की बेसिक शिक्षा के स्वर्णिम समय जैसा था । जब राज्य स्तर से लेकर जिला, ब्लाक, न्यायपंचायत और स्कूल स्तर पर शिक्षकों और […]

अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार पाने वाले अभिजीत बनर्जी मोदी जी के आलोचक हैं तो क्या अछूत हो गये ?

October 14, 2019 0

राघवेन्द्र कुमार त्रिपाठी ‘राघव’– मोदी जी के आलोचक हैं तो क्या अछूत हो गये ? जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र हैं तो क्या भारतीय मूल का ही नहीं मानोगे ? अरे भाई नोबेल पुरस्कार (अर्थशास्त्र) […]

अपनी बेटियों को ‘श्रीमती’ नहीं, ‘शक्तिमती’ बनाइए!

October 9, 2019 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय नपुंसक और पुरुषार्थविहीन हैं वे, जो बेटी बचाने की बात तो करते हैं; परन्तु उन्हीं के लोग जब बेटियों का शीलहरण करते हैं तब वे ‘शीलहरणकर्त्ताओं’ के साथ खड़े होते दिखायी पड़ते […]

इति सिद्धम्– साहित्य समाज को दर्पण थमाता हुआ

October 7, 2019 0

प्रसंगवश———- डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय- बचपन (८-१०वर्ष) में देखता था कि आये-दिन कोई व्यक्ति द्वार पर याचक की मुद्रा में आ खड़ा होता था। उस व्यक्ति के कन्धे पर ‘पगहा’, गाय-बछिया को बाँधनेवाली डोर लटकी रहती […]

गांधी दर्शन में निहित है प्राणिमात्र के कल्याण की भावना

October 2, 2019 0

राजेश कुमार शर्मा “पुरोहित” कवि, साहित्यकार हम प्रतिवर्ष राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती दो अक्टूबर को मनाते हैं। गांधी जी ने अहिंसा के बल पर भारत को आज़ादी दिलाई थी। बापू के नाम से भी […]

इलाहाबाद में गांधी जी का प्रथम आगमन

October 2, 2019 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय- यह चिता नहीं, राष्ट्रयज्ञ का ‘हवनकुण्ड’ है! प्राय: देखा गया है कि जीवन में ‘आकस्मिक’ और ‘अप्रत्याशित’ आवागमन की विशेष भूमिका होती है; जैसा कि महात्मा गांधी जी के साथ हुआ था […]

‘परम्परा’ और ‘सत्यबोध’ के साथ बलप्रयोग कर ‘दिव्य कुम्भ’ का आयोजन करनेवालो! सुनो और देखो

September 18, 2019 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय– प्रयागराज में ‘दिव्य कुम्भ’ के अवसर पर राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमन्त्री, उत्तरप्रदेश-राज्यपाल-मुख्यमन्त्री, प्रमुख विपक्षी राजनेत्री-नेता आदिक शान के साथ डुगडुगी पिटवाते हुए पधारे थे; संगमस्नान किये थे; यहाँ तक कि प्रधानमन्त्री कवच-कुण्डल धारण […]

उत्तर प्रदेश मंत्री वेतन, भत्ते एवं विविध कानून 1981 के अनुसार ‘राज्य सरकार को आयकर का बोझ झेलना चाहिए क्योंकि अधिकांश मंत्री गरीब पृष्ठभूमि से हैं’ का पुनर्मूल्याङ्कन आवश्यक

September 14, 2019 0

जिस कानून के नियमों द्वारा अब तक 19 मुख्यमंत्रियों और लगभग 1000 मंत्रियों को वेतन व भत्तों का लाभ मिला है उसी के विषय में कुछ मंत्रियों का कहना है कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं […]

हिन्दी दिवस विशेष :- “हिन्दी हमारी जीवनशैली एवं हमें हमारी मां की तरह प्यारी है”

September 13, 2019 0

शिवांकित तिवारी “शिवा”          हिन्दी सिर्फ भाषा नहीं,बल्कि यह हमारे अल्फाजों को समेट, हमारी बातों को सरलता एवं सुगमता से कहने का विशेष माध्यम हैं। हिन्दी बिल्कुल हमारी की तरह ही हमसे […]

‘बिना रीढ़ की हड्डी का’ दिखते देश के बुद्धिजीवी-वर्ग और राजनीतिक विपक्षी दल

September 4, 2019 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय– देश की लोकघाती सरकार आर्थिक नीतियों को लागू कर विविध क्षेत्रों में मूल्य-वृद्धि करती जा रही है। पेट्रोल-डीजल, गैस चावल-दाल-गेहूँ, दूध, तेल-घी, सब्ज़ी अधिक के मूल्य आसमान छू रहे हैं; रुपये का […]

भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद :- भारत रत्न डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

September 3, 2019 0

संदर्भ:- 5 सितम्बर ,जन्म दिवस राजेश कुमार शर्मा “पुरोहित”शिक्षक, कवि एवं साहित्यकार “केवल निर्मल मन वाला व्यक्ति ही जीवन के आध्यात्मिक अर्थ को समझ सकता है । स्वयं के साथ ईमानदारी आध्यात्मिक अखंडता की अनिवार्यता […]

1 2 3 21
url and counting visits