मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

मेरी ख़ुशियाँ, मेरे घर मे

September 23, 2022 0

1–मेरा घर छोटा–सा ही पर ,मेरे घर में रहनेवालों का दिल बहुत ही बड़ा है । 2–मैं महंगी वस्तुओं से नहीं,मैं बेला ,गुलाब , गुड़हल ,चंपा , चमेली फूलों से ,घर को सजा कर रखती […]

हिन्दी कविता : ख़्वाहिश

September 23, 2022 0

ख्वाहिश है मेरी उड़ने कीमुझे गिरना न सिखाइए।ख्वाहिश है मेरी मोहब्बत कीमुझे नफ़रत न सिखाइए।ख्वाहिश है मेरी जीतने कीमुझे हारना न सिखाइए।ख्वाहिश है मेरी मुस्कुराने कीमुझे रुलाना न सिखाइए।ख्वाहिश है मेरी जीने कीमुझे मरना न […]

हे संध्या रुको

September 21, 2022 0

हे संध्या ! रुको !थोड़ा धीरे – धीरे जानाइतनी जल्दी भी क्या है ?लौट आने दो!उन्हें अपने घरों में,जो सुबह से निकले हैंदो वक्त रोटी की तलाश में, मैं बैठी हूं अकेली,ना सखियाँ, ना कोई […]

मृत्यु का जयघोष

September 16, 2022 0

मृत्यु का जयघोष होगाना तुम होगे ना हम होंगे।मृत्यु का हाहाकार होगान पाप होंगे ना पुण्य होंगे।मृत्यु का तांडव होगान अपने होंगे न पराए होंगे।मृत्यु का नाच होगान घर होगा न गृहस्थी होगी।मृत्यु का रुदन […]

संभाल लेना

September 16, 2022 0

मैं पंथ से विपंथ न हो जाऊंमुझे संभाल लेना मेरे ईश्वर।मैं भक्त से अभक्त न बन जाऊंमुझे संभाल लेना मेरे ईश्वर।मैं पुण्य से पाप की तरफ न बढ़ जाऊंमुझे संभाल लेना मेरे ईश्वर।मैं न्याय से […]

नारी की अस्मिता

September 16, 2022 0

हर नारी की कहानी एक ही जैसी लगती ,कैसे कहूंँ मैं, अंतर्मन में पीड़ा को छुपाएंसपने को सजाती, औरों परअपार स्नेह लुटाती, स्वयं प्रेम की बोली के लिए तड़प जाती, एक नारी की व्यथा कोकौन […]

यादों की एक कॉपी

September 16, 2022 0

आखिरी भ्रम थाछटने लगा धुंध परछाईयों सेतुम मेरे साथ हो ! अजीब किनारे से चुप होकरप्रतिक्रिया देने के लिए हर बारएक सीधा सवाल कर जाते हो । आखिरी भ्रम थाये सीधी सरल जिंदगी अभीदो कदम […]

हिन्दी दिवस: भाषारण्य में जब तक हिंदी रहेगी, धरा पर अभिव्यक्ति इसकी सर्वोत्तम रहेगी

September 14, 2022 0

ठिठुरती है ग्रीष्म में अब हिंदी वाणीवर्णमाला की नौका में आया है पानी। हिंदी के प्रियतम खिवैया बनकर इसमे बैठियेविपरीत धारा से ये आजन्म यात्रा कीजिए। हरिचरित के स्वरूप का यह बखान करतीदेश की संस्कृति […]

कविता : प्रेम

September 9, 2022 0

प्रेम उम्र नहींएहसास देखता है।प्रेम लगाव नहींतड़प देखता है।प्रेम मुस्कुराहट नहींआंखों में बहतेअश़्क देखता है।प्रेम हमउम्र नहींहमराही देखता है।प्रेम बहस नहींझुकाव देखता है।प्रेम बहता हुआ पानी नहींजलती हुई आग देखता है।प्रेम ह्रदय का रूप नहींचेहरे […]

कितने प्यारे हैं हमारे अध्यापक

September 8, 2022 0

धूल में मिट्टी के कण की तरह थे, आसमान का तारा बना दिया। कितने प्यारे हैं हमारे अध्यापक, हर काम के काबिल बना दिया। बहुत याद आओगे हमेशा, कौन समझाएगा हमें आप जैसा। हर काम […]

कविता : शिक्षक-दिवस

September 4, 2022 0

हर बार यह दिन आता है, शिक्षक दिवस यह कहलाता है। 5 सितंबर का दिन जब आता है, इसे डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। सही राह पर चलना सिखाते […]

नादान जीवन

September 2, 2022 0

कुछ नादानियांकुछ अठखेलियांबाकी है मुझ में ।क्षण-क्षण घूमतीमृत्यु के बीच मेंजीवांत जीवनबाकी है मुझ में।झूठ के चलते बवंडर मेंसत्य काजलता हुआ दीपकबाकी है मुझ में।जीवन मृत्यु के बोध मेंहे!ईश्वर तेरा ध्यानबाकी है मुझ में। राजीव […]

अब मैं सच्ची हार चुकी हूँ

August 31, 2022 0

वैसे तो जिंदा हूं,पर अंदर से मर चुकी हूं,हे जिंदगी !मैं तुझ से लड़-लड़ के थक चुकी हूं ।लोग कहते हैं यह करवह कर, पर मेरी मां कहती है ,तू जो कर पाए वह कर […]

यादें

August 30, 2022 0

बैठ कुछ पल साथबीता बचपन किया यादवो खट्टी इमलीऔर धूप चिलचिलीलिये हाथों में हाथबैठ कुछ पल साथ। वो मास्टर जी का डंडामिला था टेस्ट में अंडाहुआ मीठा एहसासबैठ कुछ पल साथ। बचपन की आंख-मिचौलीखुशियों से […]

जीवन-मृत्यु

August 26, 2022 0

जीवन और मृत्यु का भेदतुमको कुछ बतलाऊंगा।हो सका तो तुमकोसच्चा जीवन निर्वाह सिखलाऊंगा।क्षणभर का जीवनक्षणभर की मृत्युफिर भीतुमको कुछ बतलाऊंगा।भेदभाव की नीवजो रखी तुमनेंउसको भी एक दिन मिटाऊंगा।धर्म के नाम परअधर्म तुम करते होधर्म की […]

बच्चे चले स्कूल की ओर

August 21, 2022 0

सुबह-सवेरेउठो-उठो अब आंखे खोलोसबसे प्यारी बातें बोलो।सूरज जगा हुआ प्रभातढल गई है सारी रात।चिड़िया ने फिर गाना गायासबके मन को खूब हर्षाया।बच्चे चले स्कूल की ओरजिनके हाथों भविष्य की डोर।चलो चलो अब जागो प्यारेउज्ज्वल होंगे […]

अलख निरंजन

August 19, 2022 0

जाग मछंदर गोरख आयाअलख निरंजन नाद सुनाया।महाकाल का भगत बनायाचौसठ योगिनी90 भैरव का गान सुनाया।52 वीर भी संग लाया,जाहरवीर को शिष्य बनायामहावीर संगभगवती काली का गुण गाया।जाग मछंदर गोरख आयाआदेश आदेश आदेश करसब में अलख […]

राष्ट्रध्वज : तिरंगा

August 15, 2022 0

तिरंगे में केसरिया रंग आता है ,जो त्याग और बलिदान की भावना बढ़ाता है ।तिरंगे में सफेद रंग आता है,जो शांति, एकता और सच्चाई को बनाए रखता है।तिरंगे में हरा रंग आता है,जो विश्वास और […]

आओ मिलकर तिरंगा फहरायें

August 13, 2022 0

तीन रंग का झंडा हमारा, इसमें बस्ता है जहान सारा। केसरिया,सफेद, हरा इसको भाए, हर जगह खुशहाली ही खुशहाली छाए। आओ मिलकर तिरंगा फहराए, आजादी दिवस को खुशी खुशी मनाएं। हम हिंदू हिंदुस्तान की शान […]

स्वतंत्रता

August 13, 2022 0

स्वतंत्र देश के परतंत्र नागरिकों जागोअपने अधिकारों के प्रति ही नहींअपने कर्तव्यों के प्रति भी। स्वतंत्र देश के परतंत्र नागरिकों जागोअपने धर्म की रक्षा के लिए ही नहींदूसरे धर्मों के मान-सम्मान के लिए भी। स्वतंत्र […]

1 2 3 47