आय दोगुनी हेतु खेती हेतु फल, फूल एवं सब्जी की खेती व पशुपालन भी करेंः-चन्द्रप्रकाश

स्वच्छ भारत मिशन के तहत सभी शौचालय बनवायेंः-आयुक्त

दो दिवसीय जनपद भ्रमण पर आये आयुक्त समाज कल्याण/नोडल अधिकारी चन्द्रप्रकाश ने विगत 27 सितम्बर को प्राथमिक पाठशाला ग्राम खेतुई विकास खण्ड अहिरोरी में ग्रामवासियों व अधिकारियों के साथ खुली बैठक की।
बैठक में पुष्टाहार के वितरण में अनियमितता पाये जाने पर आयुक्त ने खेतुई आंगनबाड़ी केन्द्र की सुपरवाइजर सोनी भदौरिया, आंगनबाड़ी कार्यकत्री सरला देवी तथा रमन शुक्ल को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश दिये तथा मुख्य विकास अधिकारी  को निर्देश दिये कि इस आंगनबाड़ी केन्द्र पर नया स्टाफ लगाया जाये और हिदायत दी जाये कि शासन के निर्देशानुसार गर्भवती माताओं एवं 6 वर्ष तक के बच्चों को नियमित पुष्टाहार वितरित किया जायेगा।
स्वच्छ भारत मिशन के संबन्ध में आयुक्त ने जिला पंचायतराज अधिकारी एवं संबन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि गंाव में वे गरीब जो स्वयं अपना शौंचालय नही बनवा सकते हैं उनके शोैंचालय निर्माण प्राथमिता पर करायें जायें। उन्होने उपस्थित प्रधानों से कहा कि गांवों मंे जो लोग शौंचालय बनवाने में सक्षम में उन्हे स्वयं शौंचालय बनवाने के लिये प्रेरित करें। साथ ही शौंचालय प्रयोग करने पर भी जोर दें।
बैठक में आयुक्त ने उपस्थित प्रधानों से कहा कि वह गांव के प्रतिनिधि हैं और उन्हें गांव में स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क, बिजली, पानी, पेंशन आदि योजनाओं की जानकारी रखकर संबन्धित विभाग के अधिकारियों से संपर्क कर गांव के पात्र गरीबों को शासन की योजनाओं का लाभ दिलायें। उन्होने कहा कि गांव को हरा-भरा रखने तथा शुद्ध वातावरण के लिये अधिक से अधिक वृक्ष लगायें ताकि आने वाले समय में हम सभी को सूखा व आकाल जैसी स्थिति का सामाना न करना पड़े।
इसके उपरान्त आयुक्त ने विकास खण्ड सुरसा के सभागार में ब्लाक स्तर के प्रधानों की आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुये कहा कि सरकार गरीब परिवारों के लिये तमाम प्रकार की योजनायें चला रही है और इन सभी योजनाओं का लाभ दिलाना ग्राम प्रधानों की जिम्मेदारी एवं परम कर्तव्य है। उन्होने साफ तौर पर कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना, शौंचालय, पेंशन, राशन वितरण, मृदा परीक्षण, पशु टीकाकरण, समूह गठन, मनरेगा आदि योजनाओं को पूर्ण ईमानदारी एवं भ्रष्टाचार मुक्त चलाये और इन योजनाओं में लापरवाही व अनियमितता बरतने पर संबन्धित अधिकारी/कर्मचारी तथा प्रधान के विरूद्ध भी कड़ी कार्यवाही की जायेगी।
आयुक्त ने प्रधानों से कहा कि जिस विभाग के अधिकारी/कर्मचारी द्वारा योजनाओं के क्रियान्वयन मंें बाधा उत्पन्न की जाये या लापरवाही करें तो इसकी शिकायत तत्काल लिखित रूप से जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी को दें। उन्होने कहा कि प्रधान गंाव में साफ सफाई, स्वास्थ्य, शिक्षा पर विशेष ध्यान दें और गांव के प्रत्येक बच्चे को स्कूल भेजने के साथ गांव में संपूर्ण टीकाकरण करायें तथा स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध करायें। बैठक में आयुक्त ने प्रधानों से कहा के किसानांे की आय दोगुनी करने हेतु उन्हे खेती के साथ फल, फूल, सब्जी की खेती करने के साथ पशुपालन करने के लिये प्रेरित करें।
बैठक में अपर जिलाधिकारी डाॅ0 विपिन कुमार मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी राजितराम मिश्र, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 पी0एन0 चतुर्वेदी, जिला पूर्ति अधिकारी सुनील कुमार, कृषि अधिकारी, जिल गन्ना अधिकारी डाॅ0 संजय कुमार, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला पशु चिकित्साधिकारी, अधिशासी अभियंता पी0डब्ल्यू0डी0, आरईएस, विद्युत, नलकूप सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे
url and counting visits