ग्राम हरियावर के लगभग दो दर्जन ग्रामीणों ने उन्नाव जिलाधिकारी से शौचालय निर्माण में भारी घपलेबाजी की शिकायत की

श्याम कुमार तिवारी-

बांगरमऊ उन्नाव क्षेत्र के ग्राम हरियावर के लगभग दो दर्जन ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को पत्र सौंप कर ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत अधिकारी पर शौचालय निर्माण में भारी घपलेबाजी करने का आरोप लगाते हुए उच्च स्तरीय जांच की मांग उठाई है । 


जनपद के उपजिलाधिकारी को सौंपे गए पत्र में ग्राम पंचायत हरियावर के ग्रामीणों ने कहा कि स्वच्छ भारत के तहत उनके ग्राम में सात सौ अठहत्तर शौचालय निर्माण का लक्ष्य है । जिसमें लगभग चार सौ छियानवे शौचालयों का पैसा ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत अधिकारी ने निकाल लिया है । लाभार्थी व्यक्तियों को न शौचालय ही मिला और न ही शौचालय हेतु पैसा दिया गया ।

इन लाभार्थियों में रामेश्वर पुत्र महादीन, रज्जन पुत्र लालता, श्रीमती चम्पा कली पत्नी स्वर्गवासी हीरा लाल, सुन्दर पुत्र नारायण, विनोद पुत्र राम अवतार, लालता पुत्र केदार, राम अवतार पुत्र भोला, राकेश पुत्र किशन पाल सहित सैकड़ों लाभार्थियों के नाम से हेराफेरी कर के शौचालय निर्माण कार्य का धन आहरित कर के हड़प लिया गया है । ग्रामीणों का कहना है कि इस मामले की शिकायत विकास खंड अधिकारी से की । जिसके बाद जांच के नाम पर नोडल अधिकारी देशराज कनौजिया ने मामले को रफा दफा कर दिया । ग्रामीणों ने इस आशय का शिकायती पत्र प्रेषित किया है । इसमें ग्रामीणों ने शौचालय निर्माण में हेराफेरी करने में फर्जी आईडी लगाकर धन आहरित कर अपात्रों को लाभ पहुंचाने तथा सरकारी धन के दुरुप्रयोग करने के मामले की उच्च स्तरीय जांच कराकर ग्राम प्रधान व संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की मांग की है । 
रामेश्वर पुत्र महादीन, रज्जन पुत्र लालता प्रसाद, सुन्दर पुत्र नारायण, चम्पाकली पत्नी हीरालाल, राम अवतार पुत्र भोला, नारायण पुत्र भीमा, नरेश पुत्र मुन्नी लाल, राकेश पुत्र किशन पाल आदि मौजूद रहे ।

url and counting visits