रामलला श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या में मन्दिर हेतु हुआ भूमि पूजन

प्रदेश में लगातार फूट रहा कोरोना बम

IV24 News से अवनीश मिश्र

लखनऊ- संक्रमण के बढ़ते मामलों ने सरकार के दावों को औंधे मुंह गिरा दिया। आम जनता तो अपनी लापरवाही के चलते संक्रमण की चपेट में तो आ ही रही थी लेकिन सरकार के सुपर जेट सिक्युरिटी के बीच रहने वाले मंत्रियों में भी संक्रमण बढ़ता जा रहा है । मंत्री डॉक्टर कोई भी सुरक्षित नहीं है जिसका ताजा मामला आया है, केंद्र सरकार के गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर या जानकारी दी कि “कोरोना के शुरूआती लक्षण दिखने पर मैंने टेस्ट करवाया और रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरी तबीयत ठीक है परन्तु डॉक्टर्स की सलाह पर मैं अस्पताल में भर्ती हो रहा हूँ। मेरा अनुरोध है कि आप में से जो भी लोग गत कुछ दिनों में मेरे संपर्क में आयें हैं, कृपया स्वयं को आइसोलेट कर अपनी जाँच करवाएं।”

गृह मंत्री अमित शाह का ट्वीट

दूसरी तरफ यूपी बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी कोरोना पाॅजिटिव हो गए हैं । उन्होंने ट्वीट कर कोरोना पॉज़िटिव होने की जानकारी दी और लोगों से सरकार की गाइडलाइंस का पालन करने की अपील की । उन्होंने ट्वीट कर कहा “मुझे कोरोना के शुरुआती लक्षण दिख रहे थे जिसके चलते मैंने अपनी कोविड-19 की जाँच कराई। जाँच में मेरी रिपोर्ट कोरोना पॉज़िटिव आई है। मुझसे संपर्क में आने वाले सभी लोगों से मेरा निवेदन है कि वह गाइडलाइन के अनुसार स्वयं को क्वारंटाइन कर ले और आवश्यकता अनुसार अपनी जाँच करा ले।”

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह का ट्वीट

अब सोचने वाली बात यह है इतनी सुरक्षा में रहने के बावजूद जब अधिकारियों व मंत्रियों की यह स्थिति है तो आम जनमानस का क्या होगा ? एक तरफ सरकार प्रदेश की स्थिति बेहतर बता कर अपनी पीठ थपथपा रही है तो वहीं प्रदेश में लगातार कोरोना बम बनकर फूट रहा है, संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है और सरकार और प्रशासन मूक दर्शक से नजर आ रहे हैं ।

तालियां और थालियां बजवा कर राष्ट्रवाद के नाम पर सरकार ने वाह-वाही तो बटोर ली लेकिन महामारी की वास्तविकता सामने आते ही सरकार और अधिकारी मुंह छुपाए घूम रहें है। अब सरकार को ये समझना चाहिए की अफसरों को तलब करने और तबादले करके कोरोना जैसी महामारी पर लगाम नहीं लगाई जा सकती, इसके लिए सरकार को व्यापार से ज्यादा ध्यान व्यवस्थाएं चाक-चौबन्द करने पर देना चाहिए । अब देखते हैं कि सरकार नौकरशाही पर लगाम लगाते हुए सख्त कदम कब तक उठाती है जिससे कि प्रदेशवासी राहत महसूस करें ?

url and counting visits