ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

मरीजों को ठीक करने के बजाय एक्सपायर दवा दे कर चिकित्सक ज़िन्दगी से कर रहे खिलवाड़

कौशाम्बी : चायल तहसील क्षेत्र के भैरो भीटी के पास एक भट्टे में काम कर रहे मजदूरों ने वहीं के एक झोलाछाप डॉक्टर से दवा ली । दवा देते वक्त डॉक्टर यह भी नहीं देखते हैं कि दवा खराब हो चुकी हैं या फिर डॉक्टर जानबूझ कर एक्सपायर्ड दवा दे रहे हैं । डॉक्टरों के इस कारनामे से मरीज को ठीक होने के बजाय और बीमार हो रहे हैं । मजदूर अपने कान व सिर दर्द के लिए दवा लेने के लिए गए थे, कान व सिर का दर्द तो नहीं खत्म हुआ लेकिन एक बीमारी तैयार हो गई है ।

पीड़ित महिला ने चरवा थाने जाकर झोलाछाप डाक्टर के खिलाफ तहरीर दी है । मजदूर ने भैरो भीटी पर एक झोलाछाप डॉक्टर के पास जा कर वह दवा ली थी । डॉक्टर ने एक्सपायर डेट की दवा दे दी । दवा खाने के बाद मजदूरो को और ज्यादा दिक्कत हो गयी, तो मजदूर प्रयागराज में दवा लेने गए । वहाँ के डॉक्टर ने सवाल किया कि आपने कहाँ से दवा ली है ? मजदूर ने बताया कि हम भैरो भीटी के निवासी हैं और वहीं मजदूरी करते हैं, वही से दवा लिए हैं । मजदूर ने डॉक्टर के खिलाफ चरवा पुलिस को तहरीर दी और डॉक्टर के खिलाफ कार्यवाही की मांग कर रहे हैं । झोलाछाप डाक्टरो व क्लीनिकों की तरफ ध्यान नही दिए जाने से गरीबो की जेब पर बराबर काटी जा रही है । इसी तरह से मरीजो को जिन्दगी देने की बजाय डॉक्टर मौत दे देते हैं । देखना यह है कि इस गम्भीर मसले पर सीएमओ की नजर कब पड़ेगी ?

url and counting visits