ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

खेरवा दलौली व बरौली के ग्राम प्रधान उड़ा रहे स्वच्छ भारत मिशन की धज्जियां

टड़ियावां :- तेज तर्रार व भ्रष्टाचार के खिलाफ हमेशा सख्त निर्देश देने वाले जिलाधिकारी पुलकित खरे के निर्देशों को ग्राम प्रधानों ने मजाकिया जुमला बनाकर साबित कर दिया कि भ्रष्टाचार की जड़ें कितनी गहरी हैं । मुख्यालय के कर्मचारियों की शह पर स्वच्छता मिशन धन लूट अभियान बन गया है ।

 

ग्राम सभा बरौली निवासी छोटे प्रसाद अग्निहोत्री पुत्र द्वारिका प्रसाद अग्निहोत्री जिनका शौचालय पहले से बना हुआ है और यह ग्राम प्रधान के बेहद करीबी हैं । प्रधान की हिमाक़त देखो उन्हें शौचालय का पात्र बनाकर पुन: शौचालय दे दिया गया । इसी तरह ग्राम सभा खेरवा दलौली में ग्राम प्रधान की दबंगई के चलतेे शौचालय के पात्र लाभार्थियों के निर्माणाधीन शौचालयों में घटिया सामग्री लगाई जा रही है । उक्त मामले कोे क्षेत्रीय समाचार पत्र के प्रतिनिधियों ने प्रमुखता से प्रकाशित भी किया । लेकिन उक्त प्रकरण में संबंधित विभाग के कर्मियों ने पूरे मामले को रफा दफा करने के लिए ग्राम प्रधान से सुविधा शुल्क वसूल लिया । जिससे यह प्रतीत हो रहा है कि यहां के विभागीय कर्मियों पर जिला प्रशासन के उच्चाधिकारियों का कोई नियंत्रण नहीं है ।

url and counting visits