ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

दार्जिलिंग हिंसा पूर्वोत्तर राज्यों से जुड़े उग्रवाद से प्रेरित

दार्जिलिंग में सुरक्षा बलों ने गोलीबारी नहीं की है यह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से आज स्पष्ट किया । दार्जिलिंग हिंसा काे सुश्री बनर्जी ने पूर्वोत्तर राज्यों से जुड़े उग्रवाद से प्रेरित बताया । उन्होंने यह भी बताया कि पृथक गोरखालैंड मांग को लेकर हुई हिंसा में गंभीर रूप से घायल किरन तमांग की हालत स्थिर बनी हुई है । मालूम हो कि श्री तमांग इंडियन रिजर्व बल (आईआरबी) के सहायक कमांडेंट हैं । इससे पहले तमांग की प्रदर्शनकारियों के हमले के दौरान मौत हो जाने की बात कही थी । आज दो गोरखा समर्थकों की मौत की भी सूचना है ।

कलकत्ता उच्च न्यायालय की ओर से पृथक गोरखालैंड आंदोलन को गैरकानूनी करार दिया गया है । आज फिर से दार्जिलिंग में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के समर्थकों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प हुई । पृथक गोरखालैंड की मांग को लेकर आज अनिश्चितकालीन बंद का तीसरा दिन है । यहाँ पूरे इलाके में निषेधाज्ञा लागू है । इस दौरान किसी को भी कैसे भी प्रदर्शन की अनुमति नहीं है । निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर मोर्चा समर्थकों ने प्रदर्शन किया है । पुलिस के विरोध करने पर उग्र आन्दोलनकारियों ने पत्थरबाजी की और बोतलें फेंकी । भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा । गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के आंदोलन के 16वें दिन भी दार्जिलिंग लगभग बंद हैं ।

url and counting visits