चौपाल लगाकर ग्रामीणों से जिलाधिकारी हुए रुबरु, ग्रामीणों की जनसमस्याओं को लेकर अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

कछौना (हरदोई): विकास खण्ड कछौना की ग्राम सभा ज्ञानपुर के प्राथमिक विद्यालय जब्बरखेड़ा में जिलाधिकारी पुलकित खरे ने चौपाल लगाकर लोगों की जनसमस्याओं से रूबरू हुए।

ग्रामीणों द्वारा बताई गई आवारा पशु समस्या पर ग्राम सभा कामीपुर की चरागाह भूमि पर गो-आश्रय स्थल शीघ्र बनवाने का खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान रसोई घर में खाद्य सामग्री तेल, मसाला, बिना कोई हॉलमार्क के पाये जाने पर खण्ड शिक्षा अधिकारी को कड़ी फटकार लगाई। इनके विरुद्ध विभागीय कार्यवाही करने की बात कही। गुरुवार को प्राथमिक विद्यालय जब्बर खेड़ा में बिन्दुवार सरकारी योजनाओं के बारे में अवगत कराया व इनसे संबंधित शिकायतों से भी रूबरू हुए। ग्रामीणों से विरासत संबंधी जानकारी ली। जिस पर कई ग्रामीणों ने विरासत की जानकारी संबंधित लेखपाल से ली। ग्रामीणों ने ग्राम सभा में स्थित कई सार्वजनिक भूमि पर अवैध कब्जे की भी शिकायत की। जिस पर जिलाधिकारी ने तहसीलदार को तत्काल खाली कराने का निर्देश दिया। खण्ड विकास अधिकारी कछौना ने प्रधानमंत्री आवास योजना की जानकारी दी, जिसमें बताया कि वर्ष 2017-18 में 17 आवास स्वीकृत हुए हैं व आवास विहीन परिवारों की पात्रता सूची में 28 लाभार्थी हैं। जिन्हें लक्ष्य आने पर आवास उपलब्ध कराए जाएंगे।

बाल विकास परियोजना अधिकारी विजय कुमार तिवारी ने परियोजना से संबंधित योजनाओं की जानकारी दी। मौके पर मौजूद महिलाओं ने बताया कि आंगनबाड़ी केंद्र नियमित रूप से नहीं खुलता है। जिस पर आंगनबाड़ी को अपनी कार्यशैली में सुधार करने का कड़ा निर्देश दिया। खण्ड विकास अधिकारी ने बताया कि ग्राम सभा में पेयजल हेतु 38 इंडिया मार्का नल हैं जिस पर ग्रामीणों ने कई स्थानों पर इंडिया मार्का नल खराब होने की शिकायत की। जिस पर जिलाधिकारी ने बताया कि इंडिया मार्का नल रिबोर व मरम्मत की जिम्मेदारी ग्राम पंचायत की है, उन्होंने ग्राम पंचायत अधिकारी को दो दिन में इंडिया मार्का नल ठीक कराने का निर्देश दिया। ग्राम सभा में वृद्धावस्था, विधवा, दिव्यांग पेंशन योजना से जो लाभार्थी अभी तक वंचित है, वह संडीला तहसील में चल रहे कैंप में आवेदन कर लाभ उठा सकते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम सभा में स्थित बारात घर काफी जर्जर व जीर्ण-शीर्ण है। जिसमें ग्रामीणों द्वारा जानवर बांधे जाते हैं। जिस पर जिलाधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि कार्ययोजना बनाकर तत्काल दुरुस्त कराया जाए। जिसका गांव के सार्वजनिक कार्य में प्रयोग किया जा सके। ग्रामीणों ने गांव को आने वाली मुख्य मार्ग पर जल निकासी की व्यवस्था न होने के कारण हमेशा जलभराव बना रहता है। जिससे आवागमन में काफी दिक्कतें होती हैं। जिस पर जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग को पत्र लिखकर जल निकासी के लिए कार्यवाही करने की बात कही। खाद्य सुरक्षा अधिनियम की जानकारी पूर्ति निरीक्षक दिवाकर सिंह ने ग्रामीणों को दी। इस चौपाल में ग्रामीणों ने योजनाओं की विस्तृत जानकारी ली।

इस चौपाल में जिला विकास अधिकारी राजित राम मिश्रा, उप जिला अधिकारी संडीला उदय भान सिंह, तहसीलदार, राजस्व कर्मी अनूप कुमार शुक्ला, राहुल सिंह, खण्ड विकास अधिकारी अजीत कुमार सिंह, पशुचिकित्सा अधिकारी रमेश कुमार यादव, बाल विकास परियोजना अधिकारी कछौना विजय कुमार तिवारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी विनय कुमार मिश्रा, ग्राम पंचायत अधिकारी मोहम्मद सलीम, अरुण कुमार वर्मा, लक्ष्मी नारायण, ग्राम प्रधान कौशल दीक्षित, कोटेदार नीरज शुक्ला सहित सैकड़ों की संख्या में महिलाएं व पुरुष मौजूद रहे।

url and counting visits