सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

दूसरे पहर दफ़्तर छोड़ने वाले सुधरें या ज़िला छोड़ें

जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने कहा कि अधिकारी/कर्मचारी शासकीय सेवा नियमावली और शासकीय आदेशों के अनुसार दायित्व निर्वहन करें। कहा कि उनकी जानकारी में आया है कि कुछ अधिकारी/कर्मचारी मध्यान्ह में कार्यालय छोड़ देते हैं, जो शासकीय सेवा नियम के विपरीत है। कहा कि कार्मिक अपनी पद्धति में सुधार लाएं अथवा ज़िले से तबादला करवा लें। भविष्य में पाया गया कि अमुक अधिकारी/कर्मचारी ने बिना अनुमति के कार्यालय छोड़ा है, तो उसके विरूद्ध कठोर कार्यवाही अमल में लायी जायेगी