गर्भवती एवं प्रसूताओं को किसी प्रकार की परेशानी न होने दी जाये

शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता परक एवं समय से करते हुए पीड़ित महिलाओं को न्याय दिलायेंः-संगीता

उ0प्र0 विधान मण्डल की बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार, बेसिक शिक्षा, महिला कल्याण, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, समाज कल्याण, गृह तथा राजस्व विभाग की सभापति डा0 संगीता बलवन्त ने विधायक रजनी तिवारी एवं सदस्य सुषमा पटेल के साथ आज प्रातः 09 महिला थाने का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान मात्र तीन कान्सटेबल उपस्थित थी जबकि प्रभारी निरीक्षक अनुपस्थित थी।
20 मिनट देर से पहुंची प्रभारी निरीक्षक को कड़ी फटकार लगाते हुए सभापति ने कहा कि ड्यूटी के प्रति इस तरह की लापरवाही क्षम्य नही है जबकि प्रभारी निरीक्षक को समय से अपने थाने पर उपस्थित रहना चाहिए। डियुटी रजिस्टर में 06 दिसम्बर 2018 को किसी की डियुटी न लगाये जाने पर भी उन्होने नाराजगी व्यक्त करते हुए प्रभारी को निर्देश दिये कि उपस्थित पंजीका एवं डियुटी रजिस्टर मेनटेन रखा जाये। निरीक्षण के दौरान सभापति ने प्रत्येक दिन आने वाली महिला शिकायतों के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी ली तथा निर्देश दिये कि महिला उत्पीड़न से संबंधित समस्त शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता परक एवं समय से करते हुए पीड़ित महिलाओं को न्याय दिलायें।
इसके उपरान्त श्रीमती संगीता ने जिला महिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया और निरीक्षण के दौरान भर्ती प्रसूताओं से प्रसव के दौरान पैसा लेने एवं बाहर से दवा आदि लिखने के संबंध में पूछा। इस पर भर्ती प्रसूताओं ने बताया कि यहां अन्य किसी प्रकार का पैसा नही लिया जाता है और दवायें आदि निःशुल्क दी जाती हैं। इस अवसर पर सभापति एवं विधायक रजनी तिवारी ने उपस्थित सीएमएस को निर्देश दिये कि अस्पताल में आने वाली गर्भवती एवं प्रसूताओं को किसी प्रकार की परेशानी न होने दी जाये और उन्हें समय से उपचार दिया जाये। निरीक्षण के दौरान उन्होने प्रसूताओं से संबंधित समस्त रजिस्ट्रर आदि में उनके सम्पर्क नम्बर अलग जगह लिखने पर उन्होने दिये कि निर्धारित कालम में ही प्रसूताओं के संपर्क/मोबाइल नम्बर को लिखा जाये, अस्पताल की साफ-सफाई पर संतोष व्यक्त किया।
url and counting visits