सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

दहेज लोभियों ने मारपीट कर विवाहिता को छत से फेंका

मनोज तिवारी (वरिष्ठ पत्रकार)-


जिले का पुलिस विभाग कितनी संवेदनहीन है इसका उदहारण आप तस्वीरों में देख सकते है।ठेलिया पर हाँथ पाँव टूटी पुत्री को लादकर एसपी आफिस पहुंचे पिता ने अपनी आपबीती जब सुनाई तब जाकर हरदोई की संवेदनहीन पुलिस जागी है और मामले में कार्यवाही के लिए सीओ ने सम्बंधित थानेदार को दिए है।

       मामला हरदोई के हरियांवा थाना क्षेत्र का है।यहाँ के पीपरनपुर निवासी विजय पुत्र रामपाल का विवाह कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के रामनगर निवासी रामाधार की पुत्री कल्पना से तीन साल पहले हुआ था।शादी में पिता ने अपनी हैसियत के मुताबिक दान दहेज़ भी दिया था लेकिन परिजन इतने से संतुष्ट नहीं थे और आये दिन दहेज की मांग को लेकर विवाहिता को प्रताड़ित किया करते थे।
  आरोप है कि दहेज़ में बाइक सोने की चैन व 50 हजार की नगदी की मांग को लेकर विजय व उसके पिता रामपाल माँ मॉनशिला ने 7 मई को छत पर बुलाकर कल्पना को पहले मारा पीटा उसके बाद छत से नीचे फेंक दिया।
    मामले की जानकारी पर पहुंचे पिता ने सूचना पुलिस को दी तो संवेदनहीन पुलिस ने कार्यवाही करने के बजाये पीड़िता को ही थाने से भगा दिया तब से पीड़िता का इलाज चल रहा है।बुधवार को वह रामाधार अपनी पुत्री को ठेलिया पर लादकर एसपी आफिस पहुंचा जिसके बाद सीओ हरियांवा श्यामाकांत त्रिपाठी ने मामले में सम्बंधित पुलिस को कार्यवाही के आदेश दिए।