दिवाली आने वाली और गन्ना किसानों की झोली खाली, क्या यही रामराज है ?

राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन की पंचायत ग्राम आमगांव में हुई । जिसमें जिला उपाध्यक्ष अंकित राठौर ने कहा अभी तक गन्ना किसानों के बारे में सोचने वाला कोई नहीं है । केवल वादे ही होते हैं लेकिन धरातल पर कोई काम नहीं हो रहा है । एक वर्ष बीत जाने के बाद भी अभी भी किसानों का शेष भुगतान आला अधिकारी नहीं करा पा रहे हैं । आज यह सोचकर भी बड़ा अजीब लग रहा है कि दिवाली आने वाली है और किसान के पास पैसा नहीं है । क्या यही रामराज है ?

अंकित राठौर ने कहा अगर नेताओं और अधिकारियों को 1 वर्ष तक उनकी तनख्वाह ना मिले तो क्या भाई ड्यूटी और घर चला पाएंगे ? उन्हें सोचना चाहिए की किसान किस प्रकार अपने घर का पालन पोषण कर रहा होगा ?

जिला प्रभारी राहुल पटेल ने कहा अगर सरकार अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा पा रही है तो मुख्यमंत्री जी को इस्तीफा दे देना चाहिए । मंदिर-मस्जिद से ना तो किसान का पेट भरेगा ना ही उसका विकास हो पाएगा । केवल वादा करने से ही कोई काम नहीं हो सकता । जिला प्रभारी ने कहा कि गन्ने का नया सीजन शुरू हो चुका है । अगर जल्द ही किसानों का भुगतान नहीं किया गया तो जिले का हर किसान सड़कों पर उतर कर और सड़कों पर ही गन्ना डालने का काम करेगा । जिसकी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी ।

इस मौके पर दुष्यंत सिंह, भूपेंद्र, विकास, अतुल, नेमचंद सिंह, सुरेश, प्रेमपाल, आशीष, गिरीश चंद्र गुप्ता, अमरनाथ, अमरनाथ सिंह, जोगिंदर सिंह, रूपकिशोर, सचिन कुमार तोमर, पुरुषोत्तम आदि किसान मौजूद रहे ।

url and counting visits