तो क्या बिजली-चोर हैं आज़म चचा ?

अब बिजली और पानी चोरी में फंसे आजम खां, रिसॉर्ट में रामपुर प्रशासन ने मारा छापा

सपा सांसद आजम खां की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। जमीनें कब्जाने के मुकदमे दर्ज कराने के बाद प्रशासन उन्हें भू-माफिया भी घोषित कर चुका है। उन पर भैंस और किताब चोरी के मुकदमे भी दर्ज हो चुके हैं। अब पानी और बिजली चोरी के आरोप में वह भी फंस गए हैं। उनके और उनकी पत्नी राज्यसभा सदस्य डॉ. तजीन फात्मा के हमसफर रिसॉर्ट में बिजली और पानी की चोरी पकड़ी गई है। इस पर तजीन के खिलाफ बिजली चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। साथ ही रिसॉर्ट की बिजली काट दी गई है।
जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह से भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने शिकायत की थी कि आजम खां के रिसॉर्ट में बिजली चोरी की जा रही है। यहां सरकारी धन से दो नलकूप लगे हैं, जिनके पानी की सप्लाई सिर्फ रिसॉर्ट और खेतों के लिए की जाती है। रिसॉर्ट में 50 से ज्यादा एसी लगे हैं, लेकिन कनेक्शन सिर्फ पांच किलोवाट का है। इसके बाद डीएम के आदेश पर सिंचाई और बिजली विभाग के अफसरों की टीम ने उपजिलाधिकारी प्रेम प्रकाश तिवारी के नेतृत्व में गुरुवार को रिसॉर्ट में छापा मारा। जहां शिकायत सही पाई गई।

आजम की पत्नी के नाम बिजली कनेक्शन…

बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता भीष्म कुमार तोमर ने बताया कि रिसॉर्ट में पांच किलोवाट का कनेक्शन आजम की पत्नी के नाम है। इसके बाद भी खंभे से सीधे केबल डालकर बिजली चोरी की जा रही थी। रिसॉर्ट में 33 किलोवाट का बिजली उपयोग होते मिला। बिजली चोरी के आरोप में शहर कोतवाली में तजीन फात्मा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने बताया कि रिसॉर्ट के अंदर दो नलकूप लगे हैं। एक खेतों की सिंचाई के लिए है और दूसरा पानी की टंकी के लिए। टंकी गांव के लिए बनी है, लेकिन ग्रामीणों को पानी नहीं दिया जा रहा है। इसी तरह सिंचाई के लिए लगे नलकूप से सिर्फ आजम के खेतों की सिंचाई हो रही है। इस मामले में भी कार्रवाई की जाएगी।

अब तक 80 मुकदमे दर्ज हो चुके…

सांसद के खिलाफ लोकसभा चुनाव से अब तक 80 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। इनमें किसानों की जमीन कब्जाने, लूट, चोरी आदि धाराओं के मुकदमे हैं। इन मुकदमों में गिरफ्तारी से बचने के लिए सांसद अपने वकील के जरिये अदालत में अग्रिम जमानत याचिकाएं दाखिल कर रहे हैं। अब तक 30 मामलों में उनकी जमानत याचिकाएं खारिज हो चुकी हैं ।

url and counting visits