विश्वमन्दिर में ‘त्रिशूल’ की  स्थापना अतिशीघ्र 

            भारत के प्रमुख चार धामों में से एक श्री केदारनाथ मंदिर के मुख्य पुजारी श्रीयुत गंगाधर लिंग ने प्रयागराज स्थित ‘शिवगामी ट्रस्ट’ के श्री स्वामी आनंद को केदारनाथ धाम के एक प्राचीन त्रिशूल को स्मृति स्वरूप भेंट किया है, जिसकी प्रतिष्ठा आनेवाले दिनों में की जायेगी।
          उल्लेखनीय है कि कार्याधिकारी एन० पी० जमलोकी, लेखाधिकारी आर०सी० तिवारी तथा सुरक्षाधिकारी राजकुमार नौटियाल का विशेष योगदान रहा। स्वामी आनंद ने एक आध्यात्मिक व्याख्यान करते हुए बताया कि इस त्रिशूल को लखीमपुर जनपद में पलिया कलान के पास लगभग 500 एकड़ में प्रस्तावित शिव मंदिर ‘विश्वमन्दिर’ में स्थापित किया जायेगा। स्वामी जी ने बताया कि आध्यात्मिक विषय पर, विशेषत: दिग्भ्रमित युवावर्ग का समुचित मार्गदर्शन करने के लिए ‘शिवगामी ट्रस्ट’ की मासिक मुख पत्रिका के रूप में ‘त्रिशूल’ का भी शीघ्र प्रकाशन किया जायेगा।
url and counting visits