कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

पिहानी कोतवाली इलाके के जाजूपारा में दहेज के लालच में सारी हदें पार, आठ माह की बेटी व पत्नी को जलाया जिंदा

           उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में दहेज उत्पीड़न का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। दहेज की मांग पूरी न कर पाने पर पहले विवाहिता को पीटा गया फिर उसके साथ उसकी आठ माह की पुत्री को जिंदा जला दिया गया। आरोपी पति घटना को अंजाम देकर भाग निकला। पुलिस ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कर ली है और गिरफ्तारी के लिए प्रयास शुरू कर दिए है। फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
            मामला हरदोई के पिहानी कोतवाली इलाके के जाजूपारा का है। यहां के रहने वाले लल्लू के घर को लोगों ने जलते देखा तो लोग आग बुझाने दौड़े। लोगों ने जब तक आग को बुझाया तब तक लल्लू की पत्नी रानी बानो 30 और उसकी आठ माह की पुत्री गजाला की जिंदा जलकर मौत हो गयी थी। हैरान कर देने वाली बात यह थी कि घर से लल्लू व उसकी पहली पत्नी की पुत्री व परिजन भाग निकले थे। मामले की सूचना पुलिस को लगी तो कोतवाली प्रभारी श्यामबाबू शुक्ल पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।
           इसी बीच सूचना पाकर मृतका का भाई अलाउद्दीन निवासी दहेलिया निवासी पिहानी पहुंचा और उसने बहन व उसकी पुत्री को जिंदा जलाने का आरोप लगाया। मामले की जानकारी पाकर सीओ हरियावां रविन्द्र सिंह भी पहुंच गए। पुलिस ने शवों को कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। अलाउद्दीन ने ससुराल पक्ष पर हत्या का आरोप लगाया। भाई ने बताया कि दो साल पहले शादी हुई थी और ससुराल पक्ष दहेज की डिमांड को लेकर अक्सर उनकी बहन को प्रताड़ित करता था। इस मामले में महिला के पति लल्लू, उसके दो जेठ टुन्नू व रबूदे व लल्लू की पहली पत्नी की बेटी सायमा के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की गई है।