सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

अबकी बार सावधान रहना ही नहीं, सावधान करने की भी ज़रूरत है

अंतर्ध्वनि एन इनर वॉइस-


सवायजपुर विधानसभा क्षेत्र में बिहार भाजपा के पूर्व अध्यक्ष मंगल पाण्डेय बूथ लेबल पार्टी वर्कर्स को परिवर्तन का मन्त्र दे गए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कार्यकर्ता ख़ुद को प्रत्याशी मानते हुए चुनाव लड़े। हर कार्यकर्ता माने कि उसकी विजय पार्टी की विजय होगी। पाण्डेय ने भाजपा के लोक कल्याण संकल्प पत्र के एक एक बिंदु को कार्यकर्ताओ को बताया और अपील की कि इसे जन-जन तक पहुचाएं।

गन्ना कृषक महाविद्यालय में कार्यकर्ताओं से खचाखच भरे मैदान में मंगल पाण्डेय ने सपा और बसपा पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा की इन दोनों पार्टियों ने उत्तर प्रदेश को पिछले 15 वर्षो में बारी बारी से ठगने का काम किया। लेकिन, अबकी बार सावधान रहना ही नहीं, सावधान करने की भी ज़रूरत है। पाण्डेय ने कहा कि माधवेन्द्र जीतेंगे तो क्षेत्र का मंगल होगा।

भाजपा जिला प्रभारी नीरज सिंह ने कहा कि कार्यकर्ता प्रतिदिन टोलियां बनाकर प्रत्याशी माधवेन्द्र प्रताप सिंह के पक्ष में वातावरण बनाएं और केन्द्र की मोदी सरकार की लोक कल्याणकारी नीतियों को जन-जन तक पहुंचाएं। सदर सांसद अंशुल वर्मा ने कहा कि पंचनद के लोग किसी के बहकावे में आने वाले नहीं हैं और उन्हें अच्छी तरह पता है कि उनके सुख दुःख के साथी केवल माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू हैं।

भाजपा प्रत्याशी माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू ने कहा कि कार्यकर्ता की मेहनत ही प्रत्याशी की जीत का आधार होती है। कहा की एक प्रत्याशी को उनके जिले ने नकार दिया है और अब सवायजपुर वालों को बरगलाने आए हैं। उन्होंने क्षेत्र की जनता पर विश्वास जताया कि वह सही नुमाइन्दा चुनने में भूल नहीं करेगी।

सम्मेलन की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष श्री कृष्ण शास्त्री ने की। विधानसभा संयोजक प्रीतेश दीक्षित और अरुण मौर्य ने भी सभा को सम्बोधित किया। इस अवसर पर सदर लोकसभा पालक वीरेंद्र बाजपेयी, जिला उपाध्यक्ष आज़ाद भदौरिया, पूर्व उपाध्यक्ष अखिलेश पाठक, भरखनी के पूर्व प्रमुख धीरेन्द्र प्रताप सिंह सेनानी, बजरंग दल जिला सह संयोजक सौरभ सिंह गौर, छात्रसंघ पूर्व अध्यक्ष कुलभूषण सिंह, पाली मण्डल अध्यक्ष रामू अग्निहोत्री, अभिराम सिंह, मदनपाल सिंह, पूर्व प्रमुख जगन्नाथ राजपूत और अंकित सोमवंशी सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 


जज़्बा हो तो वीरेन्द्र जैसा


जिला पंचायत सदस्य वीरेंद्र सिंह (खेतौली) का पैर टूटा था और प्लास्टर चढ़ा होने के बावजूद वो सम्मेलन में पहुंचे। मुख्य अतिथि मंगल पाण्डेय ने खुद उनके पास जाकर उन्हें माला पहनाया।