27 फरवरी को गांधी भवन परिसर में होगा 51 जोड़ों का सामूहिक विवाह – सी0 डी0 ओ0

सामूहिक विवाह के लिए जिलाधिकारी द्वारा दी गयी जिम्मेदारियों का निर्वहन ईमानदारी से करें - आनन्द कुमार

file pic.
                      जिलाधिकारी पुलकित खरे के अनुमोदन के बाद मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना सम्बन्धी बैठक कल देय सायं विकास भवन के स्वर्ण जंयती सभागार में मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार की अध्यक्षता में आयोजित की गयी ।
                      बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने उपस्थित खण्ड विकास अधिकारियों से कहा कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह का आयोजन करने हेतु 27 फरवरी 2018 की तिथि व गांधी भवन परिसर में कराने की अनुमति जिलाधिकारी द्वारा प्रदान की है, इसलिए सभी बीडीओ अपने ब्लाक से तय जोड़ों को सामूहिक में लाने की तैयारी कर लें । मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि सामूहिक विवाह में 51जोड़ों का विवाह कराया जायेगा और पंचायतराज विभाग की ओर से इन जोड़ों को उपहार के तौर पर इज्जत घर देगा तथा जोड़ों को विवाह में लाने एंव वापस छोड़ने हेतु बसों की व्यवस्था एआरटीओ द्वारा की जायेगी ।
                     उन्होंने बताया कि सामूहिक विवाह की मुख्य जिम्मेदारी समाज कल्याण विभाग की है परन्तु सुरक्षा एवं अन्य व्यवस्थाओं के दृष्टगत जिलाधिकारी द्वारा पुलिस व अन्य विभाग के अधिकारियों को भी जिम्मेदारियां दी गयी है । मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि गांधी भवन में सुरक्षा व्यवस्था अपर पुलिस अधिक्षक पश्चिमी के हाथों में रहेगी । चिकित्सकों एवं एम्बुलेंस की व्यवस्था मुख्य चिकित्सा अधिकारी करेगें, सांस्कृतिक कार्यक्रमों की व्यवस्था जिला विद्यालय निरीक्षक, मंच, पंडाल अन्य साज-सज्जा व अतिथियों का स्वागत की जिम्मेदारी उप निदेशक कृषि, जिला कार्यक्रम अधिकारी व जिला उद्यान अधिकारी देखेगें तथा साफ-सफाई, चूना, पेयजल एवं मोबाइल शौचालय की व्यवस्था अधिशासी अधिकारी नगर पालिका द्वारा कराई जायेगी ।
                  इसी तरह चयनित वर- वधू को उज्जवला योजना के रसोई गैस कनेक्शन जिला पूति अधिकारी उपलब्ध कराये जायेगें, अल्पसंख्यक समुदाय के जोड़ों के निकाह संबंधी समस्त व्यवस्था जिला खादी ग्रामोद्योग करेगें तथा हिन्दू समुदाय के जोड़ों का विवाह सम्पन्न कराने हेतु पाण्डाल,मंडप आदि की समुचित व्यवस्था जिला समाज कल्याण अधिकारी द्वारा की जायेगी । अग्नि शमन हेतु फायर बिग्रेट गाड़ी की व्यवस्था अग्निशमन अधिकारी करेगें और समस्त जोड़ों, आमंत्रित परिजनों को कार्यक्रम स्थल पर अपने नियत स्थान पर बैठाने व विवाह समारोह सम्पन्न होने तक की सम्पूर्ण व्यवस्था जिला प्रोबेशन अधिकारी, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी व जिला कार्यक्रम अधिकारी को सौँपी गयी है ।
                  मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि जिन अधिकारियों को सामूहिक विवाह सम्पन्न कराने हेतु जो जिम्मेदारियां जिलाधिकारी द्वारा सौपा गयी है उसका निर्वहन पूरी जिम्मेदारी से करें । उन्होने बताया कि सामूहिक विवाह कार्यक्रम की नोडल अधिकारी नगर मजिस्टेª होगी और जिलाधिकारी द्वारा उन्हें गांधी भवन में उपस्थित रहकर सामूहिक विवाह कार्यक्रम सकुशल एवं शान्तिपूर्ण सम्पादित कराने का उत्तरदायित्व सौपा है । बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी पी0एन0 चतुर्वेदी, उप निदेशक कृषि आशुतोष कुमार मिश्र, जिला खादी ग्रामोद्योग एस0के0 जैदी , अग्नि शमन अधिकारी सहित सभी विकास खण्ड अधिकारी आदि मौजूद रहे ।
url and counting visits