सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

समय की कमी के चलते निकाह, हलाला और बहुविवाह पर अभी सुनवाई नहीं

सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक मामले में आज भी सुनवाई हुई। केंद्र सरकार की ओर से पेश अटॉर्नी जनरल ने सुप्रीम कोर्ट से अपील की है कि ट्रिपल तलाक के साथ- साथ निकाह हलाला और बहुविवाह पर भी सुनवाई की जाए लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने सीमित समय का हवाला देते हुए कहा कि फिलहाल निकाह, हलाला और बहुविवाह पर सुनवाई नहीं की जा सकती।
ट्रिपल तलाक पर अटॉर्नी जनरल ने सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि पाक, बांग्लादेश जैसे देश भी अब सुधार की ओर बढ़ रहे हैं, पर हम धर्मनिरपेक्ष देश होने के बावजूद, इन मसलों पर आज तक बहस ही कर रहे है। उन्होंने कहा कि इंडोनेशिया, श्रीलंका, ईरान, इराक, टर्की, जैसे देशों के अपने वैवाहिक कानून हैं। उन्होंने कहा कि देश के कई हाई कोर्ट एक साथ 3 तलाक के ख़िलाफ़ आदेश दे चुके हैं। अटॉर्नी जनरल ने अलग-अलग देशों में वैवाहिक कानूनों से जुड़ी लिस्ट भी कोर्ट को सौपी हैं। उन्होंने केरल, गुवाहाटी, दिल्ली और मद्रास हाइकोर्ट के ट्रिपल तलाक़ को लेकर दिए गए आदेशों का हवाला दिया हैं। इस मामले में कल भी सुनवाई जारी रहेगी।