सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

बड़ी खबर

सुधेश-

डॉ. सुधेश (से. नि. हिन्दी प्राध्यापक जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय )

खबर खबर होती है
यह बडी खबर क्या है भोँँपू जी
सुनो भोलू
बडी खबर है क्रिकेट के दो रनोँ की
फिल्मी हीरो के सातवेँ इश्क की
लुटे पिटे नेता के बीसवेँ घुटाले की
चिन्टु पिन्टू की चौराहे पर पिटाई की
तेरा नाम क्या
मैँ ने पचास पुस्तकेँ लिखीँ
ताई लता जी ने गीत गाये हजारोँ
चाचा प्रदीप ने गीत लिखे सैँकडोँ
देख भोलू
यहाँ खबर है ठोस दुनिया की
जिस खबर के पीछे चार पैसे हैँ
वह खबर
जिस के पीछे आठ पैसे
वह बडी खबर
जिस के पीछे दस लाठी
वह ब्रैकिँग खबर
यह मीडिया है
धर्म शाला नहीँ ।